शिलान्यास:देवीलाल पार्क को विकसित करने की घोषणा की समय सीमा सितंबर, 3 माह में बजट बना उद्घाटन कराना चुनौती

महेंद्रगढ़2 महीने पहलेलेखक: मुकेश सैनी
  • कॉपी लिंक
  • पार्क में उड़ती धूल के बीच खड़ी है ताऊ देवीलाल की प्रतिमा
  • लोग को पार्क के विकसित व हरा-भरा होने का इंजतार

आगामी 30 सितंबर को प्रदेश के डिप्टी सीएम महेंद्रगढ़ में देवीलाल पार्क का उद्घाटन करने आएंगे। पार्क इतना हरा-भरा होगा कि यहां दरी बिछाने की जरूरत नहीं होगी। ऐसा डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बीते 30 मार्च को देवीलाल पार्क में जनप्रिय पूर्व उप-प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल की प्रतिभा का अनावरण करते हुए कहा था। इस बात को तीन माह बीत रहे हैं अभी तक ताऊ देवीलाल की प्रतिमा उड़ती धूल के बीच खड़ी है और लोग इसके विकसित व हरा-भरा होने का इंतजार कर रहे हैं।

गौरतलब है कि महेंद्रगढ़ को हमेशा से ही सरकार की योजनाओं का लाभ काफी तरसाने के बाद मिलता है। पहले नगर के तरणताल की योजना का लाभ घोषणा के करीब एक दशक बाद मिलना शुरु हुआ। नगर के बस स्टैंड पर रोडवेज सब डिपो के लिए बना वर्कशॉप बनकर तैयार है परंतु एक वर्ष ज्यादा समय बीत चुका है परंतु कमियों के नाम पर जनता को इसका लाभ नहीं मिल रहा है।

आईएमटी की घोषणा अब तक घोषणा ही बनी हुई है। सैनिक स्कूल, किसान स्कूल, स्टेट हाईवे के जर्जर हालातों को सुधारने सहित अन्य बहुत सी योजनाएं सरकार बना तो चुकी है परंतु इसका लाभ कम तक लोगों को मिल पाएगा इसका समय तय नहीं हैं। इसके बाद अब नगर के जर्जर हालात आधा दशक बीतने के बाद सुधरने शुरू हुए हैं।

दो दशक पहले की योजना अब तक नहीं उतर पाई धरातल पर

करीब दो दशक पहले वर्ष 2003 में महेंद्रगढ़ में किले के पीछे खाली पड़ी जगह पर देवीलाल पार्क बनाने रूपरेखा बनी थी। यह पार्क तो विकसित नहीं हो पाया परंतु कांग्रेस कार्यकाल में नगर के बस स्टैंड के पास चौधरी रणबीर सिंह हुड्डा के नाम से एक भव्य व सुंदर पार्क का निर्माण हुआ।

इसके बाद क्षेत्र के लोगों की जुबान पर देवीलाल पार्क का नाम तो रहा परंतु बाहर से आने वाले लोग जब इस पार्क के आसपास से गुजरते तो पूछते क्या यहीं मलबा स्थल ताऊ देवीलाल पार्क है। लेकिन सत्तारूढ़ सरकारों से इसे विकसित करने पर कोई ध्यान नहीं दिया। इस बार लोगों में आशा बनी कि प्रदेश में जेजेपी के सहयोग से सरकार बनी है जिसमें ताऊ देवीलाल के पोते डिप्टी सीएम भी बने हैं तो जरूर ताऊ के नाम के इस पार्क का विकास होगा लेकिन यह कार्य अभी तक पूरा नहीं हो पाया।

जेजेपी कार्यकर्ताओं की मांगे भी अधूरी

डिप्टी सीएम के आगमन पर 30 मार्च को उनके समक्ष जेजेपी के हलका प्रधान संजीव तंवर व अन्य पदाधिकारियों ने क्षेत्र के लोगों की तरफ से महेंद्रगढ़ से होकर गुजर रहे स्टेट हाईवे की हालत सुधारने, बाइपास बनवाने, शहर में हुड्डा सेक्टर के अंदर प्लॉट आवंटन करवाने, महेंद्रगढ़ में पीडब्ल्यूडी बीएंडआर विभाग की जर्जर सड़कों का सर्वे करवाकर उनका नवनिर्माण करवाने तथा ताऊ देवीलाल पार्क को शीघ्र विकसित करवाने की मांगों का लिखा एक मांग पत्र डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला को सौंपा था शायद ही इनमें से किसी एक योजना पर काम शुरु हुआ हो। लोगों ने चौटाला सरकार से इन मांगों पर भी संज्ञान लेते हुए जनसुविधाएं बढ़ाने की मांग की है।

पहले भी भास्कर ने उठाया था मामला

मार्च माह के प्रथम सप्ताह में देवीलाल पार्क की जगह को कब्जे से बचाने के लिए 50 लाख रुपए की लागत से पालिका प्रशासन ने अस्थायी दीवार बननी शुरु कर पार्क की जगह पर मलबा डालना शुरु कर दिया था। इस मामले को भास्कर ने 9 मार्च को प्रमुखता से उठाते हुए प्रकाशित किया तथा इसे जनप्रिय व जनहितैषी ताऊ देवीलाल के सम्मान के लिए अशोभनीय कार्य करार दिया था।

लोगों ने भी इस पार्क का नाम जनप्रिय नेता ताऊ देवीलाल की बजाय मलबा पार्क रखने की आवाज उठानी शुरु कर दी थी। इस बात को जेजेपी कार्यकर्ताओं ने भी डिप्टी सीएम के समक्ष प्रमुखता से उठाया तो बीते 30 मार्च को डिप्टी सीएम ने पार्क में ताऊ देवीलाल की 11 फुट ऊंची प्रतिमा का अनावरण करके पार्क को करीब 6 माह में विकसित करवाने की घोषणा मंच से की।

पार्क भव्य होगा, जिसमें लाइटों युक्त फव्वारे व अन्य सुविधाएं उपलब्ध होंगी

जननायक चौधरी देवीलाल पार्क भव्य होगा, जिसमें लाइटों युक्त फव्वारे व अन्य सुविधाएं उपलब्ध होंगी। पार्क को देखने के लिए आसपास के जिलों के लोग भी आएंगे। निर्माण का कार्य आगामी 6 माह में पूरा हो जाएगा। 6 माह बाद जब इसका उद्घाटन होगा तब यहां दरी बिछाने की आवश्यकता नहीं होगी।

ये विचार प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने 30 मार्च को शहर के पुराने किले के पीछे ताऊ देवीलाल की 11 फीट ऊंची प्रतिमा का अनावरण करते हुए व्यक्त किए थे। परंतु अब इस घोषणा को 3 माह तो बीत रहे हैं, शेष तीन माह में इस पार्क को विकसित करने में डिप्टी सीएम कितना कुछ करवा पाते हैं यह भविष्य के गर्भ में छुपा है।

पार्क में प्रतिमा अनावरण के समय लगाए गए पौधे व ट्री गार्ड की हालत भी अब देखने लायक है। अधिकांश पौधे मर चुके है। क्षेत्र के लोगों ने डिप्टी सीएम व जेजेपी पदाधिकारियों से इस पार्क को विकसित करवाने में तुंरत संज्ञान लेने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...