धरना:विवाहिता काे न्याय के लिए देना पड़ा थाने के सामने धरना, पाड़िता ने पुलिस अधिकारी पर लगाया है बलात्कार करने का आराेप

महेंद्रगढ़4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • धरने देने के बाद पुलिस ने पीड़िता का करवाया मेडिकल, देर शाम 164 के बयान के लिए न्यायालय ले गई

एसपी के यहां गुहार लगाने और उनके जांच के आदेश के बावजूद गांव काेथल कला निवासी एक महिला काे न्याय के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। पुलिस अधिकारी पर बलात्कार के आरोप लगाने वाली इस महिला काे अपना मेडिकल व बयान दर्ज करवाने के लिए शनिवार थाने के सामने धरना देना पड़ा। एक घंटे धरना देने के बाद पुलिस विभाग हरकत में अाया। सदर थाना एडिशनल प्रभारी नीलम ने पीड़िता के बयान दर्ज िकए। बाद में उसका सामान्य अस्पताल में मेडिकल करवाया व 164 के बयान के लिए न्यायालय में पेश किया।

बता दें कि गांव काेथल कला निवासी एक महिला शुक्रवार काे एक पुलिस अधिकारी पर बलात्कार करने का आरोप लगाते हुए एसपी के सामने पेश हुई थी। इस दाैरान एसपी काे पीड़िता ने लिखित शिकायत भी दी थी। इसके बाद एसपी ने महेंद्रगढ़ सदर थाना प्रभारी काे इस मामले की जांच करने के आदेश दिए थे। साथ ही पाड़िता काे महेंद्रगढ़ थाने अपनी शिकायत दर्ज करने के लिए कहा गया था। इस पर पीड़ित महिला शाम साढ़े आठ बजे तक थाने में बैठी रही, लेकिन महेंद्रगढ़ थाने में कार्यरत किसी भी अधिकारी ने ना ताे उसके बयान दर्ज किए और ना ही आगे की कार्यवाही के लिए कुछ कहा। करीब नाै बजे पुलिस की तरफ पीड़ित महिला काे सुबह थाने आने के लिए कहा गया। शनिवार सुबह 11 बजे पीड़ित महिला थाने पहुंची।

दोपहर दाे बजे तक जब पीड़ित महिला का पुलिस की तरफ से काेई बयान या मेडिकल नहीं करवाया गया ताे वाे सदर थाने के मुख्य गेट पर धरने पर बैठ गई। करीब एक घंटे दोपहर में खुले आसमान के नीचे धूप में धरने में बैठने के बाद पीड़ित महिला काे सदर थाना की एडिशनल प्रभारी नीलम ने पीड़िता काे थाने में बुलाया। उसने उसके बयान दर्ज किए। बाद में सामान्य अस्पताल में मेडिकल करवा कर 164 के बयान के लिए न्यायालय में न्यायधीश के सामने पेश किया। एसपी ने पीडित की शिकायत पर मामले की जांच के लिए महेंद्रगढ़ थाना प्रभारी काे नियुक्त किया है। अब पुलिस ने उसकी शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

खबरें और भी हैं...