पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जलमाना गांव में बड़ा हादसा:यमुना में नहाने गया था परिवार, 1 लड़की का पैर फिसला, बचाने उतरे 5 भी साथ डूबे, 3 की लाश मिली व 3 की तलाश

समालखा7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
5 मृतक के परिजन सुशील कुमार विलाप करते हुए।
  • नदी पार करना चाहती थी सरिता, पैर फिसलने से गहरे पानी में चली गई, उसे बचाने में महिला और चारों बच्चे डूबे
  • मौसी के घर आए चंदौली निवासी बादल की मौत,वहीं करहंस निवासी गौरव की चल रही तलाश

बापौली खंड के गांव जलमाना में मंगलवार को यमुना में चार परिवारों की खुशियां डूब गईं और 12वींं में 420 अंक लेकर मेरिट में आई 17 साल की सरिता अपने सपनों के साथ डूब गई। मेरिट में अाने से उसके परिजन बहुत खुश थे और उसको कॉलेज भेजना चाहते थे। बताया जा रहा है कि सरिता पानी कम होने की सोचकर दूसरे किनारे जाना चाहती थी लेकिन उसका पैर फिसल गया और वह डूबने लगी। उसे बचाने में बाकी पांच भी गहरे पानी में डूब गए।

जलमाना निवासी मजदूर सुशील से साली के बेटे बादल (17) निवासी चंदौली, सौरभ (16) निवासी करहंस ने यमुना में नहाने की जिद की थी। इसके चलते वह पत्नी सोनिया (32), बेटा सागर (15), बेटी पायल (13) और भांजे रितेश भी साथ गया था। साथ में पड़ोसी श्याम लाल की बेटी सरिता भी चल दी। बाकी सभी नहा रहे थे लेकिन सुशील और रितेश किनारे पर ही बैठे थे। सरिता को बचाने में सभी को डूबता देख दोनों ने शोर मचाया लेकिन, जब तक लोग जुटे सभी गहरे पानी में डूब चुके थे।

सरिता के पांव फिसलने से सभी बहे

सुशील ने बताया कि नहाते समय पड़ोसी की बेटी सरिता का पांव फिसला था। जिससे वह पानी के बहाव में बह गई। उसे बचाने के चक्कर में ही सोनिया, सागर, पायल, सौरभ व बादल भी बह गए। सुशील ने रोते हुए बताया कि उसे तैरना नहीं आता है। अगर तैरना आता होता तो सभी की जिंदगियां बचा लेता।

6 लाेगों के डूबने से गांव में छाया मातम

एक साथ 6 लोगों के बहने से परिवार वालों का रो-रो कर बुरा हाल है। वहीं पूरे गांव समेत जिले में मातम छा गया है। मृतकों के शवाें का पानीपत के सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिए गए हैं। पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही है।

बादल, सौरभ ने की थी नहाने की जिद

परिजनों ने बताया कि सुशील की दो सालियों के दो लड़के उनके घर आए हुए थे। उन दोनों लड़कों ने ही यमुना पर नहाने की जिद की। इसी कारण सुशील पत्नी सोनिया, बेटे सागर, बेटी पायल व पड़ोसी श्याम लाल की बेटी सरिता के साथ यमुना गया था। साथ में बिहोली निवासी भांजा रितेश भी था। सुशील व उसका भांजा रितेश यमुना किनारे ही बैठ गए।

दूसरे किनारे जाने के चक्कर में हुआ हादसा

रितेश ने बताया कि सरिता यमुना नदी में पानी कम होने के कारण दूसरे किनारे पर जाने लगी थी। अचानक उसका पांव फिसला और वह गहराई डूबने लगी। उसे डूबता देख सुशील भी बचाने के लिए दौड़ा। अन्य भी बचाने के लिए उसकी तरफ गए। पानी की गहराई का पता नहीं होने के कारण अन्य डूब गए। मामा बहार आकर बेहोश हो गया।

बेटी के मेरिट से खुश थे सरिता के परिजन

मृतक सरिता की 12वीं कक्षा में मेरिट आई थी। उसने 420 अंक प्राप्त किए थे। जिस कारण उसके परिजनों को उस पर गर्व था। परिजनों ने बताया कि वे उसे कालेज में दाखिला दिलाकर बेटी को बड़ी अधिकारी बनाने का सपना देख रहे थे।

रितेश ने फोन कर बुलाए परिजन ग्रामीणों के साथ पहुंचें सरपंच

रितेश ने बताया कि उसने शोर मचाया। मामा के फोन से अपनी मां को फोन करके हादसे की सूचना दी। उसकी आवाज को सुनकर दूसरी तरफ भैंस चरा रहे किसान भी उन्हें बचाने के लिए यमुना नदी में कूदे, लेकिन उनका कोई पता नहीं चला। घटना का पता चलते ही सरपंच सुंदरपाल रावल, पूर्व चैयरमैन सुरेंद्र जलमाना व भारी सख्या में ग्रामीण भी मौके पर पहुंचे। इसके बाद बापौली थाना प्रभारी श्रीभगवान, डीएसपी प्रदीप कुमार, नायब तहतीलदार नरेश कौशल, बीडीपीओ बापौली अशोक छिक्कारा व सिंचाई विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे।

स्थानीय गोताखोरा के सहयोग से निकाले तीन शव घटना स्थल से 3 किलोमीटर दूर मिले

सभी को डूबता देख सुशील ने शोर मचाकर लोगों को बुलाया। स्थानीय गोताखोरों ने नदी कूदकर तलाश शुरू की। घटना स्थल से करीब तीन किमी दूर मिर्जापुर गांव के पास यमुना में भैंस नहला रहे पशु पालकों को सोनिया, सरिता व बादल शव दिखाई दिया। पशुपालकों ने कड़ी मशक्कत के बाद तीनों का निकाला। कुछ देर बाद परिजन भी पहुंच गए। सुशील ने रोते-रोते कहा कि हादसा उसकी आंखों के सामने हुआ। वह किसी को नहीं बचा सका।

देखते ही देखते डूब गए परिजन

1.सुशील की पत्नी 32 वर्षीय सोनिया (शव मिला)।
2.सुशील का बेटा 12 वर्षीय सागर (लापता)।
3.सुशील की बेटी 13 वर्षीय पायल (लापता)।
4.सुशील की साली का बेटा चंदौली निवासी 17 वर्षीय बादल पुत्र मामन (शव मिला)।
5.सुशील की दूसरी साली का बेटा करहंस निवासी 16 वर्षीय सौरभ पुत्र दलीप (लापता)
6.पड़ोसी श्याम लाल की 17 वर्षीय बेटी सरिता (शव मिला)
इनकी मिली लाश: गोताखोराें के सहयोग से सोनिया, सरिता व बादल के शव मिल गए। सागर, गौरव व पायल की तलाश जारी है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें