पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नया निर्णय:सभी 72 लाख मीटर बदले जाएंगे, हर साल 15 लाख मीटर होंगे स्मार्ट

हरियाणा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पांच साल के लिए बनी योजना, उपभोक्ता प्री पेड भी कर सकेंगे भुगतान
  • 5 फीसदी मिलेगी बिल में छूट, बिलिंग साइकिल भी सही रहेगा

प्रदेश में बिजली उपभोक्ताओं के लिए बिजली विभाग ने नया निर्णय लिया है। इसके तहत प्रदेश के सभी 72 लाख बिजली मीटरों को स्मार्ट मीटरों में बदला जाएगा। योजना के तहत हर साल 15 लाख मीटरों को बदला जाएगा, लक्ष्य को पांच साल में पूरा किया जाएगा। फिलहाल प्रदेश में करीब 72 लाख उपभोक्ता हैं और अगले पांच साल में आठ लाख के करीब बढ़ सकते हैं। मीटरों की खरीद अब बिजली विभाग की ओर से की जाएगी।

रात-दिन ली जा सकेंगी रीडिंग: स्मार्ट मीटर में बिजली विभाग उन मीटरों की रीडिंग दिन रात ले सकेगा। बिलिंग साइकिल भी सही रहेगा, क्योंकि बिजली विभाग की योजना है कि मीटर रीडिंग का कार्य कंप्यूटर से ही लिया जाए। इससे गलती की गुंजाइश काफी कम रहेगी। ऐसे में बिजली विभाग को पता होगा कि किस इलाके में कितने मीटर हैं और उनमें बिजली की खपत कितनी है।

इसी आधार पर बिजली की सप्लाई और आगामी योजनाओं को अमलीजामा पहनाने में दिक्कत नहीं होगी। जिन संस्थानों में कार्य दोपहर बाद तक होता है तो वहां पर बिजली के स्मार्ट प्रीपेड मीटर काफी फायदेमंद होंगे, क्योंकि बिजली के बिल कम आएंगे। बिजली विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने बताया कि कई उपभोक्ताओं की शिकायत रहती है कि बिजली बिल ही नहीं मिला। अब सभी बिजली बिल ई मेल या फिर एसएमएस से उपभोक्ताओं को भेजे जाएंगे। उपभोक्ता अपने छह माह के बिजली बिल भी देख सकेंगे।

स्मार्ट मीटर से बिजली उपभोक्ता को यह मिलेगा लाभ
सभी उपभोक्ताओं के बिजली मीटर स्मार्ट करने का सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि उपभोक्ता को बिजली बिल में पांच फीसदी की छूट दी जाएगी। उपभोक्ता अपने मीटर को पोस्टपेड की बजाए प्री-पेड में बदल सकेंगे। कई उपभोक्ता ऐसे होते हैं जो 15 दिन घर नहीं होते, ऐसे में उनका बिल कम आएगा। मीटर को वे बंद कर सकेंगे और जब घर लौट आएंगे तो मीटर को फिर से चलाकर बिजली सप्लाई शुरू कर सकेंगे। मीटर में रीडिंग को लेकर उपभोक्ताओं की शिकायत दूर हो जाएगी, क्योंकि हर समय उपभोक्ता को यह पता चलता रहेगा कि उसके मीटर में मोबाइल सिम की तरह कितनी राशि बाकी है।

खबरें और भी हैं...