पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala Haryana, Farm Bills: Farmers Organization BKU Stopped BJP's Rally Tractor Rally On Highway For More Than 3 Hours In Narayangarh, BJP Leader Gets Heart Attack; Dead

कृषि कानूनों पर हंगामा:अंबाला के नारायणगढ़ में किसान संगठन ने हाईवे पर रोकी भाजपा की ट्रैक्‍टर रैली, पार्टी के एक बुजुर्ग नेता को आया हार्ट अटैक; मौत

अंबाला8 महीने पहले
अंबाला के नारायणगढ़ में नेशनल हाईवे पर भारतीय किसान यूनियन की तरफ से ट्रैक्टर रैली को रोके जाने के चलते हार्ट अटैक आने के बाद भाजपा नेता भरत सिंह को ट्रैक्टर से उतारते साथी।

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि सुधार कानून का विरोध रुकने का नाम ही नहीं ले रहा। बुधवार का दिन हरियाणा के अंबाला में माहौल तनाव से भरा रहा। भारतीय जनता पार्टी की तरफ से किसान आभार के रूप में निकाली जा रही ट्रैक्टर रैली बुधवार को जिले के नारायणगढ़ इलाके में थी।

बताया जाता है कि भारतीय किसान यूनियन ने इस ट्रैक्टर रैली को साढ़े 3 घंटे तक हाईवे पर ही रोककर रखा। इस दौरान भाजपा के एक नेता को दिल का दौरा पड़ गया और उसकी मौत हो गई। हालांकि, बाद में भारी पुलिस बल किसानों को हाईवे से हटाने में कामयाब रहा।

अंबाला जिले के नारायणगढ़ इलाके में हाईवे पर ट्रैक्टर रैली को रोके हुए किसान
अंबाला जिले के नारायणगढ़ इलाके में हाईवे पर ट्रैक्टर रैली को रोके हुए किसान

दरअसल, बुधवार को नारायणगढ़ में कृषि सुधार कानूनों के समर्थन में केंद्रीय राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया, कुरुक्षेत्र के सांसद नायब सैनी और भाजपा नेता राजबीर बराड़ा की ट्रैक्टर रैली का भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) ने जमकर विरोध किया। किसानों ने राष्ट्रीय राजमार्ग 72 पर इस रैली में शामिल ट्रैक्टर को करीब साढ़े तीन घंटे तक रोके रखा और जमकर हंगामा किया।

इस दौरान किसानों को संभालने में पुलिस को भी खासी मशक्कत करनी पड़ी। बताया जाता है कि इस प्रदर्शन के दौरान शहजादपुर से भाजपा नेता भरत सिंह (72) को दिल का दौरा पड़ गया। उन्हें नागरिक अस्पताल लाया गया, जहां से प्राथमिक उपचार देकर सेक्टर 32 चंडीगढ़ स्थित अस्पताल रेफर कर दिया गया, लेकिन इसी बीच उनकी मौत हो गई।

हाथों में काली झंडियां लेकर भाजपा नेताओं की ट्रैक्टर रैली का रास्ता रोके हुए किसान।
हाथों में काली झंडियां लेकर भाजपा नेताओं की ट्रैक्टर रैली का रास्ता रोके हुए किसान।

इधर, नाराज किसानों का यही कहना था कि यदि भाजपा नेता किसानों का साथ देना चाहते हैं, तो इस्तीफा देकर किसानों के साथ बैठें। किसानों ने भाजपा नेताओं को काले झंडे भी दिखाए। मात्र तीन ट्रैक्टरों को ही आगे जाने दिया गया, जबकि बाकी को वापस भेज दिया गया। यह रैली सैनी धर्मशाला नारायणगढ़ से चल कर शहजादपुर तक जानी थी।

इसका विरोध करने के लिए भाकियू के सदस्य सहित सैकड़ों किसानों ने नारायणगढ़ के राजमार्ग 72 पर काले झंडे लेकर खड़े हो गए। यह विरोध नारायणगढ़ से लेकर गांव अकबरपुर तक रहा। आखिर भारी पुलिस फोर्स किसानों को सड़क से हटाने में कामयाब रही।

किसानों को पकड़कर एक तरफ करती पुलिस टीम।
किसानों को पकड़कर एक तरफ करती पुलिस टीम।

सांसद खुद पहुंचे पोस्टमॉर्टम करवाने, भाकियू और कांग्रेस नेताओं के खिलाफ शिकायत

भरत सिंह का पोस्टमॉर्टम करवाने सांसद नायब सैनी खुद शवगृह पहुंचे। उन्होंने चढूनी ग्रुप, कांग्रेस और निर्मल सिंह समर्थकों पर भरत सिंह की हत्या का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि गुंडों ने लोकतंत्र की हत्या की है। किसानों के ऊपर डंडों ओर पत्थरों से हमला किया गया। सांसद ने कहा कि भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश सचिव रामबीर चौहान के साथ जो बदसलूकी की गई वह निंदनीय है। यही नहीं आरोपियों ने भाजपा के जिला सचिव जसमेर राणा को भी चोट पहुंचाई है। दूसरी ओर भरत सिंह के परिजनों ने पुलिस को शिकायत देकर चढूनी ग्रुप, कांग्रेस और निर्मल सिंह समर्थकों पर करवाई की मांग की है।

पार्टी के नेता भरत सिंह के पोस्टमॉर्टम के मौके पर खुद पहुंचे सांसद नायब सिंह सैनी।
पार्टी के नेता भरत सिंह के पोस्टमॉर्टम के मौके पर खुद पहुंचे सांसद नायब सिंह सैनी।
खबरें और भी हैं...