पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कांग्रेस हाईकमान आपसी गुटबाजी के कारण खासा नाराज:कांग्रेस पार्टी प्रभारी ने विधायकों से 7 और 10 जुलाई को हुए प्रदर्शनों की मांगी सूची

हरियाणा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस हाईकमान हरियाणा में आपसी गुटबाजी के कारण खासा नाराज है। - Dainik Bhaskar
कांग्रेस हाईकमान हरियाणा में आपसी गुटबाजी के कारण खासा नाराज है।

कांग्रेस हाईकमान हरियाणा में आपसी गुटबाजी के कारण खासा नाराज है। सात व 10 जुलाई को पार्टी ने बढ़ती महंगाई को लेकर दो बड़े प्रदर्शन किए हैं। इनमें खुद पार्टी के प्रभारी और प्रदेशाध्यक्ष शामिल हुए। इन दोनों प्रदर्शनों की पार्टी के सभी विधायकों से सूची मांगी गई है। पार्टी प्रभारी ने सभी विधायकों को जो पत्र लिखे हैं, उनकी प्रति पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा और प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा को भी भेजी गई है।

अब पार्टी की ओर से 15 जुलाई को भी प्रदेशभर में पेट्रोल पंपों के सामने महंगाई के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा, ऐसे में अब इस पत्र की महत्ता और बढ़ गई है। पार्टी प्रभारी विवेक बंसल खुद फरीदाबाद में पहुंचेंगे। हालांकि पार्टी के सामने सबसे बड़ा संकट किसी भी जिले में संगठन का न होना है। ऐसे में पार्टी की निर्भरता विधायकों पर अधिक बढ़ जाती है।

हाईकमान के निर्देश पर मांगी गई है जानकारी

कांग्रेस पार्टी के हरियाणा प्रभारी विवेक बंसल ने सभी विधायकों को पत्र जारी किए हैं। सूत्राें के अनुसार कांग्रेस पार्टी के हाईकमान की ओर से यह निर्देश जारी किए गए हैं। पार्टी की ओर से यूं तो 15 जुलाई तक के तीनों आयोजनों की रिपोर्ट मांगी गई है, लेकिन पहले दो प्रदर्शनों पर खासी नजर है। सूत्रों का कहना है कि इस रिपोर्ट के आधार पर विधायकों को संगठन में बड़ी जिम्मेदारी भी दी जा सकती है।

पार्टी हर प्रदर्शन की मांगेगी जानकारी
पार्टी के सूत्रों के अनुसार कांग्रेस आला कमान की ओर से जो भी निर्देश दिए जाएंगे, उनकी पालना अवश्य रूप से करनी होगी। सूत्र बताते हैं पार्टी के पास जो जानकारी पहुंची है, उसमें कहा गया है कि पार्टी की ओर से जारी किए गए निर्देशों को गंभीरता से नहीं लिया जाता।

हालांकि कई विधायक हर कार्यक्रम में शामिल होते हैं और सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करते हैं। गत दिनों झज्जर में हुए कार्यक्रम में पार्टी के प्रभारी विवेक बंसल खुद पहुंचे थे और यहां पूर्व शिक्षा मंत्री गीता बुक्कल और विधायक डॉ. रघुबीर कादियान भी मौजूद रहे। पार्टी प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने हांसी में प्रदर्शन में भाग लिया था। कई जिलों में पार्टी विधायकों ने भी शिरकत की थी।

एक माह से चल रही है आपसी गुटबाजी
पिछले करीब एक माह से कांग्रेस में आपसी गुटबाजी खुलकर सामने आ चुकी है। 22 विधायकों ने तो सीधे तौर पर पार्टी के नेता केसी वेणुगोपाल से मुलाकात की थी और पार्टी प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा को हटाने की मांग कर दी थी। यह भी कहा था कि प्रदेश में यदि कांग्रेस को सत्ता में लाना है तो पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा को कमान देनी चाहिए।

रिपोर्ट कार्ड का हो सकता है हिस्सा : सूत्रों के अनुसार कार्यक्रमों की जानकारी मांगने का मतलब सीधे तौर पर पार्टी के विधायकों के रिपोर्ट कार्ड का हिस्सा हो सकता है। क्योंकि केसी वेणुगोपाल ने पिछले दिनों कुछ विधायकों से मुलाकात के दौरान रिपोर्ट कार्ड मांग लिया था। पार्टी वर्ष 2024 के विधानसभा चुनावों में रिपोर्ट कार्ड को महत्व दे सकती है।

खबरें और भी हैं...