पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Even After 1 Month Of The Name, The Factory Continued To Operate In Jagadhri, Between Two Partner Labors, They Were Working As Laborers, So That They Could Be Monitored

नकली शराब मामले में खुलासा:नाम आने के 1 माह बाद भी जगाधरी में चलती रही फैक्टरी, दो पार्टनर लेबर के बीच में रहे थे मजदूर बनकर, ताकि नजर रखी जा सके

यमुनानगर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
यमुनानगर | नकली शराब बनाने की फैक्टरी पकड़े जाने के बाद वहां पर तैनात पुलिस।
  • मुख्य आरोपी पानीपत निवासी विकास दहिया पहले गन्नौर में बनाता था शराब
  • 2015 में विकास दहिया गन्नौर में नकली शराब बनाने के आरोप में गिरफ्तार हो चुका है

रादौर में नकली शराब की 689 पेटियां पहुंचाने वाला और जगाधरी की शांति कॉलोनी में नकली शराब बनाने की फैक्टरी चलाने वाला पानीपत निवासी विकास दहिया इससे पहले गन्नौर में भी नकली शराब बनाने के मामले में गिरफ्तार हो चुका है। केस में जांच कर रहे इंस्पेक्टर राकेश राणा ने बताया कि 2015 में विकास दहिया गन्नौर में नकली शराब बनाने के आरोप में गिरफ्तार हो चुका है।

वहीं उस पर एक ट्रक लूटने का भी केस है। ट्रक लूटने की वारदात उसने सोनीपत में की थी। इस तरह से उसका पुराना क्रिमिनल बैकग्राउंड है। पुलिस की जांच में सामने आ रहा है कि विकास नकली शराब बनाने का धंधा जगाधरी की शांति कॉलोनी के साथ-साथ कई जिलों में चला रहा था। अम्बाला के मच्छौंडा में भी नकली शराब बनाने की बात पहले सामने आ चुकी है।

पुलिस आरोपी विकास दहिया और उसके साथियों को कई जगह लेकर गई। ताकि नकली शराब के धंधे से जुड़े हर व्यक्ति को पकड़ा जा सके। हालांकि रविवार शाम तक कोई भी फरार आरोपी पुलिस के हाथ नहीं लगा है। पुलिस ने गिरफ्तार बिहार निवासी अर्जुन, पानीपत निवासी मंजीत, विकास दहिया, रोहतक निवासी बलवंत और महम निवासी रविंद्र कुमार को 10 दिन के रिमांड पर लिया हुआ है। फिलहाल इस मामले में कई गिरफ्तारियां और होनी बाकी हैं।

पुलिस ने 16 अक्टूबर को किया था विकास को गिरफ्तार

आरोपियों को पुलिस का कितना डर था इसका अंदाजा इस बात से लगता है कि रादौर में 11 सितंबर को नकली शराब पकड़ी गई। पहले दिन से ही पुलिस को पता चल गया था कि इस मामले में मास्टर माइंड पानीपत निवासी विकास दहिया है। लेकिन इसके बाद भी शांति कॉलोनी में चल रही फैक्टरी बंद नहीं की गई। फैक्टरी चलती रही। वहां पर वर्कर भी थे और तैयार माल भी था। पुलिस ने 16 अक्टूबर को जब विकास दहिया को गिरफ्तार किया तो वहां से पुलिस को नौ लेबर कर्मियों समेत भारी मात्रा में शराब और अन्य सामान मिला था। इससे सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि नकली शराब पकड़े जाने पर भी आरोपी नकली शराब बनाने में लगे थे।

ठेकेदारों की टेंशन बढ़ी, ज्यादातर ठेकेदार माल लेते रहे

नकली शराब का धंधा शराब ठेकेदारों की वजह से ही चल रहा था। रादौर एरिया के 3 कारोबारियों के पकड़े जाने के बाद यह क्लीयर हो गया कि विकास दहिया एंड कंपनी के लोग जो नकली शराब बना रहे थे वह रोहतक, महम के साथ-साथ लोकल यमुनानगर में भी सप्लाई की जा रही थी। पुलिस की जांच में सामने आ रहा है कि एक दो नहीं कई ठेकेदार यह नकली शराब मंगवाते थे। क्योंकि यह शराब असली से काफी सस्ती पड़ती है। अब इन ठेकेदारों के पीछे पुलिस लगी है। ठेकेदार अपने ठेके छोड़कर फरार हैं। जांच अधिकारी इंस्पेक्टर राकेश राणा का कहना है कि आरोपियों से कई ठेकेदार नकली शराब लेते थे। इनको लेकर जांच चल रही है और पकड़ने के लिए टीमें भी रेड कर रही हैं।

फैक्टरी मालिक की भूमिका भी संदिग्ध

शांति कॉलोनी में जिस फैक्टरी में यह नकली शराब बनाने का धंधा चल रहा था उसके मालिक की भूमिका भी संदिग्ध मानी जा रही है। क्योंकि ऐसा नहीं हो सकता कि उसे न पता हो कि जिसने उसे फैक्टरी किराए पर दी है वह यहां पर क्या बना रहा है। इससे पुलिस इस फैक्टरी मालिक पर भी शिकंजा कस सकती है। नकली शराब पकड़े जाने के बाद फैक्टरी पर पुलिस का पहरा है। यहां पर 24 घंटे राइडर कर्मी तैनात है।

लेबर के बीच रहकर काम करते थे पाटर्नर, ताकि लेबर किसी को बता न दे

पुलिस ने फैक्टरी पर जब रेड की तो वहां से 10 लेबर कर्मी गिरफ्तार किए। इसमें से दो लोग पार्टनर थे। बिहार निवासी अर्जुन और पानीपत निवासी मंजीत पार्टनर बताए जा रहे हैं। इसलिए पुलिस ने इन दाेनों को मुख्य आरोपी विकास दहिया के साथ रिमांड पर लिया है। वहीं अब तक की जांच में भी सामने आया है कि पार्टनर मजदूर बनकर लेबर के बीच में रहते थे। ताकि लेबर कर्मी यह किसी को न बता पाएं कि यहां पर शराब बनती है। इसके साथ ही लेबर को फैक्टरी से बाहर तक नहीं जाने दिया जाता था। उनके खाने का इंतजाम वहीं पर होता था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें