• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Farmers Agitation: Independent MLA Sombir Sangwan Withdraw Support From Manohar Lal Government Of Haryana

कृषि कानूनों से किसान नाराज:सोमबीर सांगवान ने खट्‌टर से वापस लिया समर्थन, कल पशुधन बोर्ड का चेयरमैन पद छोड़ा था; सरकार पर खतरा नहीं

चंडीगढ़2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चरखी दादरी के निर्दलीय विधायक सोमबीर सांगवान, जिन्होंने सांगवान खाप के फैसले के साथ खड़े रहने के चलते पशुधन बोर्ड के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया और सरकार से समर्थन वापसी का ऐलान कर दिया। - Dainik Bhaskar
चरखी दादरी के निर्दलीय विधायक सोमबीर सांगवान, जिन्होंने सांगवान खाप के फैसले के साथ खड़े रहने के चलते पशुधन बोर्ड के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया और सरकार से समर्थन वापसी का ऐलान कर दिया।
  • चरखी दादरी से निर्दलीय विधायक हैं, भाजपा छोड़कर हराया था बबीता फोगाट को

किसान आंदोलन से मनोहर लाल सरकार की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। मंगलवार को चरखी दादरी से निर्दलीय विधायक सोमबीर सांगवान ने सरकार ने अपना समर्थन वापस ले लिया है। इससे पहले उन्होंने सोमवार को पशुधन विकास बोर्ड चेयरमैन के पद से इस्तीफा दिया था। उनके इस फैसले से हरियाणा सरकार पर फर्क नहीं पड़ेगा।

सांगवान ने कहा कि राजनीति और पद का उन्हें कोई लालच नहीं है। किसी भी पद से बड़ा समाज और लोगों का हित है। भाईचारे को कायम रखने के लिए वह सदैव तत्पर हैं। उन्होंने बताया कि अब वह किसान आंदोलन के समर्थन में सांगवान खाप सहित उतरेंगे और सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद सांगवान किसानों के साथ खड़े होने के लिए दिल्ली चले गए।

सोमबीर सांगवान की तरफ से समर्थन वापसी के संबंध में भेजा गया पत्र।
सोमबीर सांगवान की तरफ से समर्थन वापसी के संबंध में भेजा गया पत्र।

निर्दलीय विधायक बलराज भी समर्थन ले चुके हैं वापस

बता दें कि इससे पहले भ्रष्टाचार के मुद्दे को लेकर निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू पहले ही मनोहर लाल सरकार से समर्थन वापस ले चुके हैं। जहां तक सोमबीर सांगवान के समर्थन वापस लेने की बात बात है तो वह सांगवान खाप के प्रधान भी हैं और खाप ने किसान आंदोलन में शामिल होने का फैसला किया है। इसी के चलते सोमबीर ने चेयरमैनी भी छोड़ दी।

सोमबीर सांगवान 2019 के विधानसभा चुनाव में चरखी दादरी सीट से भाजपा की उम्मीदवार पहलवान बबीता फोगाट को हराकर विधानसभा पहुंचे हैं। करीब 31 सालों से समाजसेवा करते आ रहे सोमबीर सांगवान ने 2014 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की टिकट पर चरखी दादरी से चुनाव लड़ा था। उस वक्त उन्होंने करीब 42 हजार वोट लिए।

फिर 2019 में पार्टी ने सोमबीर को दरकिनार करके दंगल गर्ल बबीता फोगाट को मैदान में उतार दिया। नाराज होकर सांगवान ने पार्टी छोड़ दी और निर्दलीय चुनाव लड़ा। इतना ही नहीं 43849 वोट लेकर विजयी रहे। दूसरे नंबर पर रहे सतपाल सांगवान को 29577 तो बबीता फोगाट को 24786 वोट मिले। भाजपा ने सोमबीर सांगवान को राज्‍य पशुधन विकास बोर्ड का चेयरमैन बना दिया था।

खट्‌टर सरकार को खतरा नहीं

सांगवान के समर्थन वापसी से राज्य की खट्‌टर सरकार पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। 90 सदस्यों वाली हरियाणा विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 46 है। भाजपा के 40 और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी JJP के 10 विधायक मिलाकर सरकार के पास 50 विधायक हैं।

हरियाणा की दलीय स्थिति

पार्टीविधायक
भाजपा40
जेजेपी10
कांग्रेस30
इनेलो1
हलोपा1
अन्य8