• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Farmers Engaged In Lines Since Morning In Jind, Fatehabad And Karnal, Getting DAP Less Than 15 Days

डीएपी किल्लत:15 दिन से कम मिल रहा डीएपी, जींद, फतेहाबाद व करनाल में सुबह से ही लाइनों में लगे किसान

हरियाणाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुलां। इफको केन्द्र कुलां पर डीएपी लेने के लिए उमड़ी किसानों की भीड़। - Dainik Bhaskar
कुलां। इफको केन्द्र कुलां पर डीएपी लेने के लिए उमड़ी किसानों की भीड़।
  • सरसों की बिजाई के बाद अब गेहूं बिजाई में भी आ रही दिक्कत

गेहूं की बिजाई जींद, करनाल, सिरसा और फतेहाबाद के टोहाना, कुलां, जाखल व रतिया में इलाके में तेज हो गई है, लेकिन किसानों को डीएपी खाद नहीं मिलने के चलते परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

तरावड़ी में खाद न मिलने से गुस्साए किसानों ने सौंकड़ा पुलिया पर जाम लगा दिया। कुछ देर के लिए लगाए गए जाम के कारण कई वाहन फंस गए, त्योहारों को लेकर खरीददारी करने आए लोगों को भी परेशानी झेलनी पड़ी। वहीं, शुक्रवार को टोहाना, कुलां, जाखल व रतिया इलाके में कुल 3600 बैग डीएपी का वितरण किया है, इसके लिए सैकड़ों किसान अलसुबह से ही लाइन में खड़े हो गए। तरावड़ी क्षेत्र में सरसों की बिजाई के लिए किसानों के पास कुछ दिन का ही समय बचा है। लेकिन उन्हें खाद नहीं मिली।

कुलां में 500 थैले डीएपी खाद आने की सूचना मिलने पर सैकड़ों किसान रात के एक बजे इफको केन्द्र कुलां के सामने लाइन लगाकर खड़े हो गए। शुक्रवार सुबह 9:30 बजे कर्मचारियों ने डीएपी का वितरण शुरू किया। बीती शाम कुलां के इफको केन्द्र पर जींद में लगे रैक से एक ट्रक में 500 थैले डीएपी आई थी। एक किसान को आधार कार्ड से 4-4 थैले दिए गए।

किसान बोले- बिजाई में हो रही देरी

तरावड़ी में किसानों ने कहा कि वह खाद के लिए दर-दर भटक रहे हैं। हर रोज सैकड़ों की तादाद में किसान खाद लेने के लिए विक्रेताओं के पास पहुंच रहे हैं, लेकिन आधे लोगों को भी खाद नहीं मिल पा रही है। खाद नहीं मिलने के कारण किसान परेशान हैं, क्योंकि सरसों की बिजाई में देरी हो रही है। सालों बाद खाद को लेकर ऐसे हालात बने हुए हैं।

सूचना मिलते ही थाना प्रभारी मनोज वर्मा भी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और दोपहिया वाहन चालकों को दूसरे रास्ते से निकाला गया, ताकि त्योहारों के दिनों में लोगों को खरीदारी में किसी प्रकार की परेशानी ना आए।

पुलिस की मौजूदगी में बांटा खाद

शहर की पुरानी अनाज मंडी में शुक्रवार को सरकारी दुकान पर डीएपी खाद लेने के लिए काफी संख्या में किसान पहुंच गए। एक-दूसरे से पहले खाद लेने की होड़ के चलते किसान आपस में उलझ गए, इसलिए मौके पर पुलिस बुलानी पड़ी।

पुलिस ने किसानों को शांत करवाकर लाइन लगवाई और खाद वितरण करवाया। किसानों ने बताया कि प्राइवेट डीलर्स से डीएपी लेने जाते हैं, तो साथ में गेहूं का बीज भी महंगे रेट में लेना पड़ता है। सरकारी दुकान पर बीज सस्ता है, लेकिन यहां किसानों की लंबी लाइन लग रही है। सरकार को गेहूं की बिजाई से पहले ही सरकारी दुकानों पर पर्याप्त डीएपी भेजना चाहिए था।

खबरें और भी हैं...