पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Gurugram Dwarka Express Way Incident Flyover Slabs Fell, Dust Fell, Earthquake Like Tremor Up To A Mile, Watch CCTV

द्वारका एक्सप्रेस-वे हादसा:फ्लाईओवर के स्लैब गिरे तो ऐसे छा गई धूल, एक मील तक रहा भूकंप जैसा कंपन; देखें CCTV

गुरुग्राम3 महीने पहले
गुरुग्राम में द्वारका एक्सप्रेस-वे पर निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरे हुए स्लैब। चार मार्च को ही केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इसका निरीक्षण किया था।

गुरुग्राम में द्वारका एलिवेटिड एक्सप्रेस-वे के तीन पिल्लरों के बीच का करीब 250 फीट लंबा स्पाइन रविवार सुबह गिरा तो आसपास धूल का गुब्बार घिर गया। साथ ही तेज धमाके के बाद एक मील दूर तक बसे लोगों ने भूकंप जैसा कंपन महसूस किया। यह सब कहने-सुनने में जितना ज्यादा खौफनाक लग रहा है, उससे कहीं ज्यादा हैं CCTV कैमरे में कैद हुई हादसे की तस्वीरें।

बता दें कि दिल्ली में जाम की स्थिति से निपटने के लिए गुरुग्राम से गुजरते जयपुर-दिल्ली हाईवे पर खेड़की दौला टोल प्लाजा के पास द्वारका एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जा रहा है। चार मार्च को केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने NHAI के अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया था। रविवार सुबह इसका 250 मीटर लंबा हिस्सा अचानक धराशायी हो गया।

प्रत्यक्षदर्शी ने बताया- दो से तीन मिनट तक कुछ भी देख पाना था मुश्किल

प्रत्यक्षदर्शी दीपांशु सैनी बताते हैं कि तेज धमाके के बाद द्वारका एक्सप्रेस-वे पर इतनी धूल उड़ी कि दो से तीन मिनट तक कुछ भी देख पाना मुश्किल हो गया। इसके अलावा स्लैब गिरने से करीब एक-डेढ़ किलोमीटर तक लोगों को भूकंप जैसे झटके महसूस हुए। तेज आवाज और जमीन के हिलने पर सुबह के समय अपने घरों में मौजूद लोग बाहर निकले। सोते हुए लोगों की नींद तेज धमाके के साथ खुली। इस हादसे के बाद लोग सहम गए और घरों के बाहर आ गए। आनन-फानन में राहत कार्य शुरू किया गया। इस हादसे में तीन लोगों के घायल होने का समाचार है और इसके बाद जांच का सिलसिला जारी है।

इसी बीच इस घटना का एक CCTV फुटेज भी सामने आया है। थोड़ी दूर एक घर के CCTV कैमरे में कैद हुई तस्वीरें बताती हैं कि महज कुछ ही सेकंड्स की यह दुर्घटना कितनी भयावह थी। गनीमत रही कि छुट्‌टी का दिन और उस पर सुबह-सुबह का वक्त था। अगर यहां ज्यादा लोग होते तो हादसा और भी भयानक हो सकता था।

खबरें और भी हैं...