हरियाणा में रेल कनेक्टिविटी का मेगा प्लान:17 नए रेलवे स्टेशन बनेंगे, 126 किलोमीटर बिछेगी रेलवे लाइन; 5 जिलों के लोगों को सीधा लाभ

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा में 2024 में होने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनाव से पहले BJP सरकार एक्टिव हो गई है। इसके लिए राज्य में रेल कनेक्टिविटी का विस्तार किया जा रहा है। इसके लिए प्लान A और B तैयार किया गया है।

इन दोनों प्लान के तहत राज्य में 17 नए रेलवे स्टेशन बनाए जाएंगे। साथ ही 126 किलोमीटर की नई रेलवे लाइन बिछाई जाएगी। राज्य के इससे 5 जिलों के लोगों को लाभ सीधा लाभ होगा। साथ ही राज्य के पर्यटन उद्योग पर भी अनुकूल प्रभाव पड़ेगा।

प्लान A में कनेक्टिविटी लाइन
हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर के प्लान-A में पांच नए रेलवे स्टेशनों (बुलावत, चांडाला डांगावास, पचगांव, मानेसर और न्यू पाटली) के साथ 30 किलोमीटर मार्ग की लंबाई शामिल है। पाटली और सुल्तानपुर (उत्तर प्रदेश) में रेलवे नेटवर्क के लिए 11.4 किलोमीटर की कनेक्टिविटी लाइन और न्यू तौरू में डीएफसी नेटवर्क के लिए 4.8 किलोमीटर की कनेक्टिविटी लाइन शामिल है।

प्लान B में 12 नए रेलवे स्टेशन
प्लान-B में 12 नए रेलवे स्टेशनों के साथ 96 किलोमीटर मार्ग की लंबाई और तीन इंटरचेंज पॉइंट (न्यू पृथला, असौदह और न्यू हरसाना कलां) पर रेलवे नेटवर्क और डीएफसी नेटवर्क के लिए 6.28 किलोमीटर की कनेक्टिविटी लाइनों को शामिल किया गया है।

भूमि अधिग्रहण पर काम शुरू
हरियाणा ऑर्बिटल रेल कोरिडोर (HORC) परियोजना के तहत पलवल को सोनीपत से जोड़ने वाली नई रेल परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण के कार्य में तेजी लाने का काम शुरू हो गया है। चीफ सेक्रेटरी की ओर से पांच जिले पलवल, नूंह, गुरुग्राम, झज्जर और सोनीपत के डीसी को इस बाबत निर्देश जारी किए गए हैं।

नोटिफिकेशन जारी
CS की ओर से सभी पांच जिलों (पलवल, नूंह, गुरुग्राम, झज्जर और सोनीपत) के लिए 20-E नोटिफिकेशन (भूमि अधिग्रहण की घोषणा) जारी कर दी गई है। परियोजना के प्लान A (बी/डब्ल्यू धुलावत और बडसा) के लिए 66 प्रतिशत भूमि और प्लान B (शेष भाग) के लिए 10 प्रतिशत भूमि का अधिग्रहण किया गया है।