पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • High Court's Decision In Hisar Fraud Case Dismissed Anticipatory Bail Plea Of Director, Wife And Sons Of RCT Builders; Case Was Registered In 2019

हिसार के धोखाधड़ी मामले में हाईकोर्ट का फैसला:आरसीटी प्रोजेक्ट के डायरेक्टर, पत्नी और बेटों की अग्रिम जमानत याचिका खारिज; 2019 में दर्ज हुआ था केस

हिसार2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिसार का पहला बहुमंजिला प्रोजेक्ट, जिसके मालिकों की हाईकोर्ट ने अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी। - Dainik Bhaskar
हिसार का पहला बहुमंजिला प्रोजेक्ट, जिसके मालिकों की हाईकोर्ट ने अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी।

हिसार के आरसीटी प्रोजेक्ट के डायरेक्टर राजेन्द्र मित्तल, उनकी पत्नी सरोज रानी, बेटे कुशल मित्तल और अरुण मित्तल की अग्रिम जमानत याचिका हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। जस्टिस एचएस गिल ने धोखाधड़ी के इस मामले में आरोपियों की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए मंगलवार को यह फैसला दिया। सोमवार को कोर्ट ने याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

आरसीटी प्रोजेक्ट हिसार का पहला बहुमंजिला प्रोजेक्ट है। प्रोजेक्ट में फ्लैट और विल्ला खरीदने वालों की तरफ से अर्बन एस्टेट थाना में 2019 में धोखाधड़ी व अन्य धाराओं में केस दर्ज करवाया था। फ्लैट खरीददारों के अनुसार वह बिल्डर्स को राशि जमा करवाने के बाद भी उनको पजेशन नहीं दिया जा रहा है।

अपने बचाव में आरोपियों ने दलील दी कि इस सरोज रानी, कुशाल मित्तल, अरुण मित्तल कम्पनी के डायरेक्टर्स में शामिल नहीं हैं, लेकिन पीड़ित पक्ष ने पुरानी रसीदें कोर्ट में पेश करके यह साबित कर दिया कि आरोपियों की प्रोजेक्ट में भागीदारी रही है। इससे पहले आरसीटी प्रोजेक्ट के डायरेक्टर्स की हिसार कोर्ट से भी जमानत याचिका खारिज हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...