• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar Hansi: A Huge Uproar Farmers Protested Against The CM Who Came To Launch The Kovid Hospital, Beaten The DSP; Lathicharge

हिसार में आक्रोशित अन्नदाता, DSP को पीटा:कोविड अस्‍पताल का शुभारंभ करने पहुंचे CM का किसानों ने किया विरोध, पुलिस नाकों को किया ध्वस्त; लाठीचार्ज

हिसार/हांसीएक वर्ष पहले
हिसार में OP जिंदल मॉडर्न स्कूल में बनाए गए अस्थायी कोविड अस्पताल का उद्घाटन करते मुख्यमंत्री मनोहर लाल और विरोध करने पहुंचे किसान।

हिसार में रविवार को 500 बिस्तर की क्षमता वाले अस्थायी कोविड अस्पताल का उद्घाटन करने पहुंचने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को भारी विरोध का सामना करना पड़ा। यहां खेती कानूनों का विरोध कर रहे आंदोलनकारी किसानों ने पुलिस पर हमला कर दिया। एक DSP को भी मार-पीटकर घायल कर दिया। बड़ी मुश्किल से पुलिस ने लाठीचार्ज करके हालात पर काबू पाया। इस दौरान करीब आधा घंटा हाईवे जाम रहा।

हिसार में OP जिंदल मॉडर्न स्कूल में करीब 28 करोड़ रुपये से अस्थायी तौर पर चौधरी देवी लाल संजीवनी अस्पताल का निर्माण किया गया है। रविवार सुबह करीब 11 बजे मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अस्पताल का शुभारंभ किया और हेलिकॉप्टर से चले गए। जब रामायण टोल और सातरोड़ नहर के पास जुटे आंदोलनकारी किसानों को पता चला तो वो जिंदल स्‍कूल की तरफ बढ़े। करीब 18 किमी की दूरी तय कर किसान समारोह स्थल पर पहुंच गए। पुलिस ने रोकने की कोशिश की। दोनों तरफ से हुई झड़प में आंदोलनकारियों ने DSP अभिमन्‍यु को भी पीट दिया। मामला गरमाता देख पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। लाठीचार्ज भी किया। मौके पर अभी भी भारी पुलिस बल तैनात है।

OP जिंदल मॉडर्न स्कूल की तरफ बढ़ते किसानों को रोकने की कोशिश में पुलिस बल।
OP जिंदल मॉडर्न स्कूल की तरफ बढ़ते किसानों को रोकने की कोशिश में पुलिस बल।

हिसार के अलावा हांसी में किसानों को रोकने के लिए दो नाके लगा रखे थे। पहला हांसी बाईपास पर दूसरा टोल प्लाजा पर था। भिवानी, बवानीखेड़ा और नारनौंद की तरफ के किसान हिसार आ रहे थे। आंदोलनकारियों ने पुलिस के नाकों को ट्रैक्टरों से तोड़ दिया। आंदोलनकारियों को उग्र होता देख पुलिस ने भी रोकने का प्रयास नहीं किया। किसानों की संख्या काफी ज्यादा थी। आंदोलनकारी हांसी से भी हिसार की तरफ कूच कर रहे हैं। दोपहर में स्थिति थोड़ी सामान्य हुई है।

यह भी जानें

  • हॉस्पिटल को राज्य की एजेंसियों ने महज 16 दिन में तैयार किया है। शनिवार तक चिकित्साकों, स्टॉफ नर्स सहित अन्य स्टॉफ ने अपनी-अपनी जिम्मेदारियां संभाल लीं
  • पहले रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा बनाने की बात चल रही थी, बाद में लोक निर्माण विभाग (PWD) की एक दूसरे विंग हरियाणा रोड एंड ब्रिज डिवेलपमेंट कॉरर्पोरेशन (HRBDC) को जिम्मेदारी दी
  • HRBDC के मैनेजिंग डायरेक्टर निहाल सिंह बताते हैं कि विभाग के XEN विशाल, रितेश नांदल, JB डेकोर के CEO रूपेंद्र वालिया ने इस इन्फ्रास्ट्रक्चर को खड़ा करने में दिन-रात मेहनत की।
  • तमाम इंफ्रा, मेडिकल उपकरण, बेड और अन्य सामान भी कंपनी की मदद से दिल्ली से लाया गया है
  • यहां ऑक्सीजन की अंतरित लाइन कंपनी ने ही बिछाई है, सप्लाई जिंदल स्टेनलेस देगा
  • अस्पताल में एक मिनट में एक बेड को 8 लीटर ऑक्सीजन की आवश्यकता होगी। अगर 500 बेड से हिसाब लगाएं तो 500 बेड के लिए एक मिनट में 4 हजार लीटर ऑक्सीजन की जरूरत होगी
  • जिंदल स्टेनलैस हिसार लिमिटेड के विनिर्माण प्रमुख BK बिदलिश बताते हैं कि वह रोजाना कुल 8 टन ऑक्सीजन रोजाना, यानि करीब 58 लाख लीटर ऑक्सीजन हर दिन 500 बेडों को मुहैया होगी
  • अस्पताल में 5 एम्बुलेंस तैनात की गई हैं। मेडिकल स्टाफ के साथ-साथ आवश्यक सेवाओं से जुड़े सभी विभागों का एक-एक नोडल अधिकारी भी नियुक्त किया गया है
खबरें और भी हैं...