करनाल में चल रहे धरने पर गृहमंत्री की टिप्पणी:अनिल विज ने कहा-जांच में दोषी पर कार्रवाई जरूर होगी, लेकिन किसी के कहने पर किसी को फांसी नहीं चढ़ा सकते

अंबालाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज। - Dainik Bhaskar
हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज।

करनाल में लाठीचार्ज पर कार्रवाई को लेकर चल रहे किसानों के धरने पर हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कड़ी टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि किसी के कहने पर किसी को फांसी नहीं चढ़ाया जा सकता। मामले की जांच जारी है।

आपको बता दें कि 28 अगस्त को करनाल में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में भाजपा संगठन की बैठक थी। इसमें पंचायत और शहरी निकाय चुनाव पर चर्चा की गई। इस बैठक को सफल बनाने के लिए शहर को चारों तरफ से सील किया हुआ था। इसी बीच SDM आयुष सिन्हा का लाठीचार्ज का आदेश देते एक वीडियो सामने आया था ।वीडियो में जो शब्द रिकॉर्ड हुए, बरताड़ा टोल पर वैसा ही हुआ।

वीडियो में क्या बोले थे आयुष सिन्हा, पढ़िए
वीडियो में वो बोलते नजर आ रहे हैं, ''सिम्पल है, जो भी यहां से (बैरिकेड की तरफ इशारा करके) कोई नहीं जाना चाहिए। जो जाए उसका सिर फोड़ दो, मैं ड्यूटी मजिस्ट्रेट हूं। सीधे लठ मारना, कोई डाउट। मारोगे। जवाब में पुलिस वालों की आवाज आई-जी सर।''

सिन्हा बोले, ''सीधे उठा-उठाकर मारने पीछे। कोई डाउट नहीं है। कोई डायरेक्शन की जरूरत नहीं है। क्लीयर है। ये नाका किसी भी हालत में लीक नहीं होने देंगे। हमारे पास पर्याप्त मात्रा में 100 की फोर्स पीछे है। कोई इश्यू नहीं है। ठीक है। हम पूरी रात नहीं सोए हैं। दो दिन से ड्यूटी कर रहे हैं। यहां से एक बंदा नहीं जाना चाहिए। जो जाए तो उसका सिर फूटा होना चाहिए।''

हो चुका आयुष सिन्हा का तबादला
किसानों, विपक्ष, वकील और अन्य लोगों ने आयुष सिन्हा को बर्खास्त कर उनके खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की। हालांकि आयुष सिन्हा का तबादला हो चुका है। 1 सितंबर को सरकार ने 19 IAS और एक HCS का तबादला किया तो उन्हें इनमें एक नाम आयुष सिन्हा का भी शामिल रहा।

अफसर पर कार्रवाई की मांग पर अड़े किसान
7 सितंबर से करनाल में सिन्हा को बर्खास्त करने की मांग को लेकर किसान धरने पर बैठे हुए हैं। इसी बीच इस मामले में हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने बड़ा बयान दे डाला है। अनिल विज ने कहा है कि हम निष्पक्ष जांच कराने को तैयार हैं। करनाल एपिसोड की जांच हुई तो अधिकारी, किसान या किसान नेता जो भी दोषी हुए, उन पर सख्त कार्रवाई भी होगी। अनिल विज ने यह भी साफ किया कि किसी के कहने पर किसी को फांसी नहीं चढ़ा सकते। सिर्फ जायज मांग ही मानेंगे।

खबरें और भी हैं...