पूर्व CM का दावा- कुलदीप पर पार्टी करेगी कार्रवाई:भूपेंद्र हुड्‌डा बोले- 30 वोट की उम्मीद थी, मुझे नहीं मालूम किसका रद्द हुआ

चंडीगढ़4 महीने पहले
अजय माकन और भूपेंद्र हुड्‌डा।

कांग्रेस उम्मीदवार अजय माकन की हार पर शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह निराश दिखाई दिए। पूर्व सीएम ने कहा कि हमारे पास 31 वोट थे। एक ने कांग्रेस को वोट नहीं दिया। 30 की उम्मीद थी, लेकिन किसका वोट रद्द हो गया और क्या कारण थे ये मुझे मालूम नहीं है। कुलदीप पर पार्टी कार्रवाई करेगी।

कुलदीप के साथ 18 साल पुराने संबंध

वहीं, उम्मीदवार अजय माकन ने कहा कि कुलदीप के साथ मेरे 18 साल पुराने संबंध थे। उन्हें अपनी अंतरात्मा को देखना चाहिए था। हम दोनों 2004 में एक साथ संसद गए थे। उन्हें राहुल गांधी से मिलने के लिए वोट के बाद 5 बजे बुलाया गया था। राहुल से मिलते तो भी वोट नहीं देते। उनके विरुद्ध कार्रवाई होनी चाहिए।

माकन ने कहा कि निर्दलीय विधायक का वोट रद्द होना चाहिए था, परंतु हमारे विधायक का वोट रद्द किया गया। फर्स्ट प्रेफरेंश में हमारे पास वोट अधिक थे। हम लीगल एग्जामिन कर रहे हैं कि एक इंडिपेंडेंट कैंडिडेट को दिया गया। निर्दलीय विधायक का वोट रद्द होना चाहिए, लेकिन हमारा रद्द कर दिया गया। कांग्रेसी विधायकों ने जो विश्वास जताया है, उसका आभार करता हूं। हमारे विधायक न तो प्रलोभन न ही दबाव में आए।

2 सीटों पर थे 3 उम्मीदवार

बता दें कि हरियाणा राज्यसभा चुनाव में 2 सीटों पर 3 उम्मीदवार थे। चुनाव में भाजपा उम्मीदवार कृष्ण पंवार की जीत तय थी, लेकिन निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा और कांग्रेस उम्मीदवार अजय माकन के बीच मुकाबला था। कुलदीप बिश्नोई ने निर्दलीय उम्मीदवार के समर्थन में क्रॉस वोटिंग कर दी, जबकि एक कांग्रेसी विधायक का वोट रद्द हो गया।

राज्यसभा चुनाव में 90 विधायक थे। एक वोट का वैल्यू 100 होती है। राज्यसभा चुनाव के फॉर्मूले अनुसार 1 वोट कांग्रेस का रद्द हो गया। निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू ने किसी को वोट नहीं दिया। 88 वोट काउंट होने के हिसाब से कृष्ण लाल पंवार को जीत के लिए 29.34 वोट चाहिए थे, लेकिन उन्हें 31 वोट मिले। उनके हिस्से में आए 1.67 वोट निर्दलीय कार्तिकेय शर्मा को चले गए। उन्हें कुल 29 वोट मिले थे, जबकि कांग्रेस का एक वोट रद्द हो जाने से माकन को भी 29 वोट मिले थे। इस हिसाब से पंवार को 2934 वैल्यू, कार्तिकेय को 2966 और माकन को 2900 वैल्यू मिली। जिसके आधार पर पंवार और कार्तिकेय को विजयी घोषित कर दिया गया।

खबरें और भी हैं...