पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • If The Ex serviceman Himself Will Do The Job In The State, Then The Children Will Not Get The Benefit Of Reservation.

राज्य में नौकरियों की रिजर्वेशन पॉलिसी में संशोधन:प्रदेश में एक्स सर्विसमैन खुद नौकरी करेगा तो बच्चों को नहीं मिलेगा रिजर्वेशन का लाभ

हरियाणा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश सरकार ने एक्स सर्विसमैन की राज्य की नौकरियों की रिजर्वेशन पॉलिसी में संशोधन किया है। अब यदि कोई एक्स सर्विसमैन रिटायरमेंट के बाद राज्य सरकार की नौकरी जॉइन करता है तो उसके बच्चों को रिजर्वेशन पॉलिसी का फायदा नहीं मिलेगा। चाहे एक्स सर्विसमैन ने खुद रिजर्वेशन का फायदा लिया हो या नहीं। इसी प्रकार शहीद के बच्चों को भी इस पॉलिसी का फायदा नहीं दिया जाएगा।

तर्क दिया कि शहीद के परिवार के किसी एक सदस्य को कंपेसनेट अपॉइंटमेंट पॉलिसी का फायदा मिल जाता है। यानि अनुकंपा के आधार पर नौकरी मिल जाती है। यह निर्देश मुख्य सचिव की ओर से जारी किए गए हैं। इनमें कहा कि यदि एक्स सर्विसमैन खुद नौकरी पा लेता है तो उसे हाई-पे स्केल की नई नौकरी में जाने के लिए सिर्फ उम्र में छूट मिलेगी। बाकी रिजर्वेशन का लाभ नहीं मिलेगा। यदि एक्स सर्विसमैन योग्य होते हुए भी दोबारा नौकरी नहीं करता है तो उसके एक ही बच्चे को रिजर्वेशन का लाभ दिया जाएगा।

ऐसे मिलेगा फायदा- जानिए... किसे माना जाएगा दिव्यांग

  • प्रदेश में नौकरियों में एक्स-सर्विसमैन रिजर्वेशन में दिव्यांग एक्स सर्विसमैन को प्राथमिकता दी जाएगी। यदि कोई दिव्यांग आवेदन नहीं करता है तो दिव्यांग के बच्चों को प्राथमिकता मिलेगा। यदि इस कैटेगिरी में भी कोई नहीं आता है तो एक्स-सर्विसमैन और यदि एक्स-सर्विसमैन भी नहीं है तो उनके बच्चों को रिजर्वेशन पॉलिसी का फायदा मिलेगा।
  • दिव्यांग एक्स सर्विसमैन को उसके योग्य ही नौकरी मिलेगी। दिव्यांग भी उसे ही माना जाएगा, जो सेना में रहते हुए दिव्यांग हुआ है।
  • यदि किसी को दुर्व्यवहार या अन्य किसी वजह से सेना से निकाला गया है तो उसे एक्स सर्विसमैन नहीं माना जाएगा। न तो उसे और न ही उसके बच्चों को एक्स-सर्विसमैन रिजर्वेशन पॉलिसी का फायदा मिलेगा।
खबरें और भी हैं...