हरियाणा:पंचकूला में मुख्यमंत्री खट्‌टर ने तिरंगा फहराया, कहा- कोरोना ने हमारी रफ्तार जरूर रोकी, लेकिन हौसले नहीं रोक पाया

पानीपत/पंचकूला2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम मनोहर लाल खट्टर पंचकूला में झंडा फहराने के बाद सलामी देते हुए। - Dainik Bhaskar
सीएम मनोहर लाल खट्टर पंचकूला में झंडा फहराने के बाद सलामी देते हुए।
  • सीएम बोले- कोरोना ने आजादी में कुछ बंदिशें जरूर लगा दीं, लेकिन हम आजाद हैं कुछ बंदिशों के साथ
  • सीएम ने कहा कि हमने युवाओं को पर्ची और खर्ची से आजादी दी है

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार को 74वें स्वतंत्रता दिवस पर पंचकूला में झंडा फहराया। इस दौरान सीएम ने देश के वीर शहीदों को याद किया और उन्हें नमन करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की पंक्तियां पढ़ीं और कहा कि जिनकी चढ़ती हुई जवानी, खोज रही अपनी कुर्बानी, जलन एक जिनकी अभिलाषा, मरण एक जिनका त्योहार, नमन उन्हें मेरा शत बार।

सीएम मनोहर लाल पंचकूला में झंडा फहराने के बाद भाषण देते हुए।
सीएम मनोहर लाल पंचकूला में झंडा फहराने के बाद भाषण देते हुए।

सीएम ने कहा कि आजादी का दिन कई मायनों में अहम हैं, आजादी का ये दिन महामारी के दौर में मना रहे हैं। महामारी के बीच, स्कूली बच्चों को हम अपने बीच नहीं पा रहे हैं, जो विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम करते थे। कोरोना ने हमारी आजादी में बंदिशें जरूर लगा दी हैं, हम आजाद हैं, बंदिशों के साथ। कोरोना ने हमारे मुंह मास्क लगा दिया है लेकिन हमारे हाथों को नहीं बांधा है। कोरोना ने हमारी रफ्तार जरूर रोकी है लेकिन हमारे हौसलों को नहीं रोक पाया है। इस हौसले को बनाए रखने और अनेक कोरोना वारियर्स ने समाजसेवा की है।

सीएम ने कहा कि कोरोना के दौरान मानवता की महान सेवा में डॉक्टर, नर्स, समाजसेवक, पुलिसकर्मी, आंगनवाड़ी वर्कर शामिल हैं, जिन्होंने अपनी जान की बाजी लगाकर काम किया है। सीएम ने इन सभी का आभार व्यक्त किया। सीएम ने युवाओं को लेकर कहा कि उनकी सरकार ने युवाओं को पर्ची व खर्ची से आजादी दिला दी है। अब बिना भ्रष्टाचार के सरकारी नौकरियां मिल रही हैं। कर्मचारी भी ऑनलाइन ट्रांसफर के माध्यम से अपनी मर्जी की जगह नौकरी कर सकते हैं। सीएम ने कार्यक्रम के अंत में प्रदेशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी।

खबरें और भी हैं...