करनाल लाठीचार्ज:जांच आयोग भंग, रिपोर्ट मिलने से पहले सिन्हा को बेहतर पोस्टिंग

राजधानी हरियाणा21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
24 दिसंबर को जांच पूरी हो चुकी, रिपोर्ट देने को सीएम से नहीं मिल रहा समय। - Dainik Bhaskar
24 दिसंबर को जांच पूरी हो चुकी, रिपोर्ट देने को सीएम से नहीं मिल रहा समय।

करनाल लाठीचार्ज मामले की जांच के लिए रिटायर्ड जस्टिस एसएन अग्रवाल की अध्यक्षता में गठित आयोग को बुधवार को सरकार ने भंग कर दिया। हालांकि, 24 दिसंबर को कार्यकाल पूरा होने के बाद 3 जनवरी को अग्रवाल ने चार्ज छोड़ दिया था। अभी तक सरकार को इस मामले की रिपोर्ट नहीं मिली है। जस्टिस अग्रवाल ने 24 दिसंबर को ही अपनी जांच पूरी कर ली थी, लेकिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल से अभी तक वक्त नहीं मिला है। हालांकि, उन्होंने रिपोर्ट को छोड़कर बाकी सबूतों में शामिल फोटोग्राफ, वीडियो, पेन ड्राइव, 100 गवाहों के बयान सील बंद लिफाफे में होम सेक्रेटरी को सौंप दिए थे।

करीब 150 पेज की रिपोर्ट अभी जस्टिस अग्रवाल के पास है, जो समय मिलने पर मुख्यमंत्री को सौंपी जाएगी। दूसरी तरफ, रिपोर्ट मिलने से पहले ही आईएएस एवं एसडीएम आयुष सिन्हा को बेहतर जगह लगा दिया गया है। सिन्हा को पंचकूला एडीसी कम-सिटिजन रिसोर्स इन्फॉर्मेशन ऑफिसर लगा दिया है। गुरुवार को एकमात्र तबादला सिन्हा किया गया है। सिन्हा का करनाल लाठीचार्ज के दिन सिर फोड़ देने के बयान का वीडियो सामने आने के बाद किसानों का आंदोलन तेज हो गया था।

खबरें और भी हैं...