हरियाणा:कावड़ यात्रा पर रहेगी पूरी तरह रोक, भक्तों के लिए हरिद्वार से गंगाजल लाएगी सरकार

चंडीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सावन महीने में हरिद्वार में कावड़ यात्रा के दौरान कुछ ऐसा दृश्य होता था। - Dainik Bhaskar
सावन महीने में हरिद्वार में कावड़ यात्रा के दौरान कुछ ऐसा दृश्य होता था।
  • पंचकूला, फरीदाबाद, गुड़गांव के पुलिस विभाग को रखा गया अलर्ट
  • सरकार ने कावड़ समितियों, भक्त मंडलियों, धार्मिक नेताओं से साधा संपर्क

उत्तराखंड, हरियाणा और उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा कोरोना के चलते सामूहिक रूप से कावड़ यात्रा पर रोक लगाने के बाद हरियाणा सरकार ने भक्तों के लिए हरिद्वार से गंगाजल की व्यवस्था करने का निर्णय लिया है। सरकार ने कोरोना के चलते कावड़ यात्रा पर पूरी तरह रोक लगा दी है। रेवाड़ी जिले में सोमवार को ही कावड़ यात्रा को लेकर धारा-144 लगा दी गई है। धीरे-धीरे प्रदेशभर में ऐसा फैसला लिया जा सकता है। 

गृह विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि इस साल सावन मास के दौरान महाशिवरात्रि की पूर्व संध्या पर पंचकूला, फरीदाबाद और गुड़गांव के पुलिस अधिकारियों को कांवडियों को ‘कांवड़ यात्रा’ पर जाने की अनुमति नहीं देने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि यह निर्णय उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश की सरकारों द्वारा कांवडियों के रहने एवं ठहरने की व्यवस्था करने में असमर्थता जताने पर लिया गया है।

उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने कोविड-19 के मद्देनजऱ अपने-अपने जिलों की कांवड समितियों, भक्त-मंडलियों, धार्मिक नेताओं आदि से तालमेल स्थापित कर तुरंत यह सुनिश्चित करें कि वे ‘कांवड़ यात्रा’ पर न जाएं।

खबरें और भी हैं...