• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Macro Containment Zone; Police Strictness Is Necessary, Because Nothing Is Larger Than Life, If You Have Come In Contact With The Infected, Then Consider Yourself As A Patient.

मैक्रो कंटेनमेंट जोन:पुलिस की सख्ती जरूरी, क्योंकि जीवन से बड़ा कुछ नहीं, संक्रमित के संपर्क में आए हैं तो खुद को मरीज मानकर चलें

हरियाणा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोनीपत| अशोक नगर में बुधवार को भीड़ को कंट्रोल करने के लिए पुलिस पहुंची। बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क की पालना के लिए पुलिस ने सख्त निर्देश दिए हैं। पुलिस ने लोगों को काफी समझाया। - Dainik Bhaskar
सोनीपत| अशोक नगर में बुधवार को भीड़ को कंट्रोल करने के लिए पुलिस पहुंची। बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क की पालना के लिए पुलिस ने सख्त निर्देश दिए हैं। पुलिस ने लोगों को काफी समझाया।
  • कहीं लाेगाें ने बल्लियां गिराई, पुलिस नहीं आई नजर, बाहरी लाेगाें के प्रवेश पर रही पूरी तरह से राेक

प्रदेश में एक से ज्यादा कोरोना संक्रमित मिलने पर मैक्रो कटेनमेंट जोन बनाए जा रहे हैं, लेकिन हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं, जो कंटेनमेंट जोन बनाए हैं, वहां एक से दो दिन बाद नाकाबंदी की जा रही है। इधर, विशेषज्ञों का कहना है कि यदि संक्रमित के संपर्क में आए हैं तो खुद को मरीज मानकर चलें। सख्ती जरूरी है, क्योंकि जीवन से बड़ा कुछ नहीं।

हिसार में सूर्य नगर, अर्बन एस्टेट और माॅडल टाउन काे माइक्राे कंटेनमेंट जाेन बनाया गया है। दवाईयां और दूध की दुकानें खुली रहीं। जबकि अन्य बंद रहीं। बाहरी लाेगाें की आवाजावी पर भी राेक रही। डीआईजी बलवान िसंह राणा के निर्देश पर तीनाें जाेन में सुबह पुलिस फाेर्स तैनात करने का दावा किया गया। यहां इंस्पेक्टर समेत 12 पुलिसकर्मियाें काे तैनात किया गया था।

लाेगाें से लाउड स्पीकर के माध्यम से घराें से बेवजह बाहर नहीं निकलने की अपील की जा रही थी। एक कार सवार ने काॅलाेेनी के अंदर जाने का प्रयास किया, मगर पुलिसकर्मियाें ने वापस भेज िदया। हालांकि मेडिकल स्टाेर खुला था।

इधर, कुरुक्षेत्र में कोरोना के अधिक केस आने पर सेक्टर-7 व 13 को मंगलवार को प्रशासन की ओर से मैक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था। जिसके चलते दोनों सेक्टर्स में मार्केट पूरी तरह बंद रही। वहीं, बुधवार को दोपहर बाद सड़कों पर बांस लगाकर रास्तों को बंद किया गया। दोपहर होते-होते दोनों सेक्टर्स में पुलिसकर्मी नाकों पर तैनात हो गए।

कैथल में एक से ज्यादा संक्रमित मिलने पर गली को सील कर रहे

कैथल में अब जहां एक संक्रमित मिल रहा है, वहां एक घर को ही कंटेनमेंट जोन बना रहे हैं। एक से अधिक कोविड पॉजिटिव मिल रहे हैं, वहां पूरी गली को सील किया जा रहा है। पुलिस कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है। प्रशासन अब सख्ती बरत रहा है। हुडा सेक्टर-19 में स्कूल के पास 4 पॉजिटिव मिलने पर पूरी गली को सील कर दिया है। गली के दोनों तरफ लकड़ी की बल्लियां लगाकर आवाजाही बंद कर दी गई।

फतेहाबाद, रतिया, टोहाना में 14 कॉलोनियों में बनाए कंटेनमेंट जोन

फतेहाबाद, रतिया व टोहाना की 14 कॉलोनियों में माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। मंगलवार शाम को हुए आदेशों के बाद बुधवार को सभी कॉलोनियों में प्रशासन द्वारा बैरिकेडिंग की गई है। अधिकारियों का कहना है कि सभी व्यवस्थाएं गुरुवार से एक्टिव हो जाएंगी। बेरिकेडिंग होने के बाद से लोगों को बाहर नहीं आने दिया, यहां तक की संक्रमितों के गेट के बाहर भी बेरिकेड लगाए गए हैं।

पानीपत जिले में 500 से ज्यादा कंटेनमेंट जाेन, वाे भी 1-1 घर के

पानीपत में 4 हजार से ज्यादा एक्टिव मरीजाें में 3 हजार मरीज हाेम आइसाेलेशन में हैं। पानीपत में 500 के करीब मैक्रो कंटेनमेंट जाेन बनाए हैं, लेकिन ये सब एक घर से लेकर दूसरे घर तक हैं। माॅडल टाउन के 4 घराें के मरीजाें के पास दवाएं नहीं पहुंची ताे उन्हाेंने खुद ही मेडिकल स्टाेर से खरीद ली। कई मरीजाें काे दवाओं की किट मिली, किसी में गाेलियां कम थीं, ताे किसी में कफ सिरप नहीं था।

कैथल| हुडा सेक्टर-19 में ज्यादा केस मिलने के बाद कंटेनमेंट जोन बनाकर लकड़ी की बल्लियों से रास्ता बंद किया गया। इसके बाद न तो किसी बाहर जाने दिया, न ही किसी को अंदर एंट्री मिल पाई।
कैथल| हुडा सेक्टर-19 में ज्यादा केस मिलने के बाद कंटेनमेंट जोन बनाकर लकड़ी की बल्लियों से रास्ता बंद किया गया। इसके बाद न तो किसी बाहर जाने दिया, न ही किसी को अंदर एंट्री मिल पाई।
खबरें और भी हैं...