पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • North West Railway Zone Working To Electrify The Railway Tracks Passing Through Haryana For Rajasthan

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राजस्थान जाने से जुड़ी बेहद जरूरी खबर:हरियाणा से गुजरने वाले रेलमार्गों का विद्युतीकरण हुआ, अब ज्यादा से ज्यादा ट्रेनों का संचालन संभव होगा

हिसार5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
उत्तर पश्चिमी रेलवे द्वारा किया गया ट्रैक का विद्युतिकरण। - Dainik Bhaskar
उत्तर पश्चिमी रेलवे द्वारा किया गया ट्रैक का विद्युतिकरण।

भारतीय रेलवे ने कोविड-19 के विषम हालातों में भी अपने आधारभूत ढांचे को मजबूत बनाने की दिशा में काम किया है। 2020-21 में उत्तर पश्चिम रेलवे ने 566 किलोमीटर ट्रैक का विद्युतीकरण पूरा किया है। रेलवे द्वारा 2023 तक सभी रेल लाइनों के विद्युतीकरण का लक्ष्य रखा गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे के उपमहाप्रबंधक (सामान्य) व मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण के अनुसार, उत्तर पश्चिम रेलवे द्वारा विद्युतीकरण के कार्य तीव्र गति से किए जा रहा है।

इस जोन में विद्युतीकरण के कार्य को विगत वर्षों के बजट में पूरा करने की प्राथमिकता है और सम्पूर्ण उत्तर-पश्चिम रेलवे ट्रैक पर विद्युतीकरण का कार्य स्वीकृत हो गया है। अब तक 2190 किलोमीटर रेल लाइन पर विद्युतीकरण का कार्य पूरा किया जा चुका है। 2020-21 में 566 किलोमीटर रेलखंड के विद्युतीकरण का कार्य पूरा किया गया है। उत्तर पश्चिम रेलवे के महत्वपूर्ण रेल खंड रेवाडी-अजमेर वाया फुलेरा तथा रेवाड़ी-अजमेर वाया जयपुर ट्रैक पर इलेक्ट्रिक ट्रेक्शन पर ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है।

अजमेर से उदयपुर मार्ग का विद्युतीकरण कार्य भी पूरा हो गया है, जिससे राजस्थान के प्रमुख पर्यटक स्थल उदयपुर का जुड़ाव अजमेर, जयपुर तथा दिल्ली से इलेक्ट्रिक ट्रेक्शन से हो गया है। जयपुर-सवाई माधोपुर मार्ग पर अजमेर पुलिया पर विद्युतीकरण कार्य पूर्ण हो जाने पर जयपुर से मुम्बई की ओर जाने वाली ट्रेनों का संचालन इलेक्ट्रिक ट्रेक्शन पर किया जा सकेगा। साथ ही ब्यावर से गुड़िया मार्ग का विद्युतीकरण होने से दिल्ली से अहमदाबाद मार्ग वाया जयपुर, अजमेर भी पूर्णतया विद्युतीकृत हो जाएगा।

विद्युतीकरण होने से क्या होंगे फायदे

  • डीजल इंजन के धुएं से होने वाले प्रदूषण से मुक्ति।
  • विद्युत इंजनों की लोड क्षमता अधिक होने के कारण अधिक भार वहन।
  • अधिक ट्रेनों का संचालन संभव।
  • ईंधन आयात पर निर्भरता में कमी।
  • इलेक्ट्रिक गाड़ियाें की परम्परागत गाड़ियाें से औसत गति अधिक होती है।
  • डीजल की अपेक्षा बिजली की लागत कम होने से राजस्व की बचत।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

और पढ़ें