पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हरियाणा-यूपी बाॅर्डर पर विवादों को निपटाने की तैयारी:यूपी से सटे 5 जिलों के डीसी की सर्वे ऑफ इंडिया के अफसर लेंगे बैठक

राजधानी हरियाणा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अगले सप्ताह सर्वे ऑफ इंडिया के अधिकारियों के साथ अहम बैठक होगी। - Dainik Bhaskar
अगले सप्ताह सर्वे ऑफ इंडिया के अधिकारियों के साथ अहम बैठक होगी।

यूपी और हरियाणा की सीमाओं को लेकर अगले सप्ताह सर्वे ऑफ इंडिया के अधिकारियों के साथ अहम बैठक होगी। इस बैठक में यूपी से सटे सोनीपत, पानीपत, करनाल, पलवल और फरीदाबाद जिलों के डीसी मौजूद रहेंगे। उत्तर प्रदेश व हरियाणा की बाउंड्री डिमार्केशन इस बैठक में होगी।

दूसरी ओर पंजाब के साथ भी सीमा विवाद को निपटाने की योजना तेजी से चलाई गई है। राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल इस बाबत जल्द ही पंजाब सरकार के रेवन्यू सेक्रेटरी के साथ बैठक करेंगे ताकि इस विवाद को भी निपटाया जा सके। बलटाना के साथ पंचकूला का सेक्टर-19 सटा हुआ है।

यह सेक्टर चंडीगढ़-नई दिल्ली रेलवे लाइन के उस पार यानी पंजाब के एरिया में है। हरियाणा और यूपी के बीच सरहद पर अब सीमेंट के पिल्लर लगाए जाएंगे। इसके लिए दोनों प्रदेशों ने सर्वे ऑफ इंडिया से एरियर सर्वे कराया है। बार्डर की सीमाएं तय कर दी गई हैं।

सबसे बड़ी दिक्कत करनाल, पानीपत, सोनीपत व यमुनानगर जिलों से लगती सीमा पर होती है। किसानों के बीच फायरिंग तक हो चुकी है। यही नहीं हरियाणा की फसल तक काटकर दूसरे प्रदेशों के किसान ले जाते हैं। ऐसे विवाद को सुलझाने के लिए ही दोनों राज्यों की सरकारों ने सहमति जताई।

अधिकारियों के बीच कई दौर की बैठकों के बाद बार्डर लाइन खींचने का निर्णय लिया गया। बार्डर पर लगाए जाने वाले पिल्लर का आधा खर्चा हरियाणा वहन करेगा, जबकि आधा उत्तर प्रदेश की ओर से उठाएगा। बार्डर पिल्लर डिजाइन को भी फाइनल किया जा चुका है।

खबरें और भी हैं...