पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • One Floor Of Residential Plot Will No Longer Be Registered In The Name Of Two, Additional Guidelines Issued

अतिरिक्त दिशा-निर्देश जारी:रिहायशी प्लॉट की एक मंजिल अब दो के नाम पर नहीं होगी पंजीकृत, अतिरिक्त दिशा-निर्देश जारी

हरियाणा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के वित्त आयुक्त और राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा विकसित रिहायशी प्लाटों के मामले में अलग-अलग आवासीय इकाई के रूप में विभिन्न मंजिलों के पंजीकरण के लिए अतिरिक्त दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं, ताकि स्टाम्प शुल्क एवं पंजीकरण शुल्क में होने वाले लीकेज से बचा जा सके।

एचएसवीपी द्वारा विकसित आवासीय भूखंडों के मामले में विभिन्न मंजिलों को अलग आवासीय इकाई के रूप में अनुमति दी गई है। अब किसी भी मंजिल का कोई वर्टिकल स्थानांतरण नहीं होगा। एक ही मंजिल को दो या दो से अधिक अलग-अलग व्यक्तियों के नाम पर पंजीकृत नहीं किया जा सकता है। इसलिए केवल हॉरिजेंटल पूर्ण मंजिल को स्थानांतरित व पंजीकृत करने की अनुमति है। प्लाॅट का लंबवत रूप से खंडन नहीं किया जाएगा। सभी स्वतंत्र मंजिल मालिकों के पास स्वतंत्र मंजिल वाली भूमि का पूरा भूखंड होगा।

स्टांप शुल्क व पंजीकरण शुल्क के प्रयोजन के लिए भूमि लागत का विभाजन सभी स्वतंत्र तलों के बीच समान अनुपात में होगा। संबंधित जिलों में समय-समय पर निर्धारित कलेक्टर दरों के अनुसार दो मंजिलों के लिए 50 प्रतिशत प्रत्येक मंजिल, तीन मंजिलों के लिए प्रत्येक मंज़िल 33.1/3 प्रतिशत और 4 मंजिलों के लिए प्रत्येक मंजिल 25 प्रतिशत होगा। खाली या निर्मित प्लॉट के विशिष्ट मंजिल के पंजीकरण से पहले एचएसवीपी की पूर्व अनुमति अनिवार्य होगी।

खबरें और भी हैं...