पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रंगदारी के लिए धमकी:पानीपत में आढ़ती को 18 दिन में आ चुकी 3 चिट्‌ठी, पहले दो करोड़ मांगे तो अब एक करोड़ पर आ पहुंचे

पानीपत9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
क्राइम फाइल की फोटो। - Dainik Bhaskar
क्राइम फाइल की फोटो।
  • वर्ष 1996 से बाबरपुर मंडी में आढ़त का काम कर रहे हैं और मंडी में ही रहते हैं आढ़ती पुरुषोतम दास, बेटे और पोते को मारने की धमकी
  • एक चिट्‌ठी 14 सितंबर को गोदाम में पड़ी मिली, 23 सितंबर को खेत में दरवाजे पर दूसरी टंगी थी तो गुरुवार को तीसरी रास्ते में पड़ी थी
  • पुलिस ने अज्ञात पर केस दर्ज किया, थाना प्रभारी अनिरुद्ध चौहान बोले-विशेष टीम बनाकर आरोपी की धर-पकड़ के लिए प्रयास जारी

पानीपत के बाबरपुर में अनाज मंडी के आढ़ती से रंगदारी मांगे जाने का मामला सामने आया है। पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक आढ़ती को पिछले 18 दिन में ऐसी तीन चिट्‌ठी आ चुकी हैं। पहले बदमाशों ने दो करोड़ रुपए की मांग रखी थी, वहीं अब एक करोड़ पर आ गए हैं। साथ ही धमकी दी जा रही है कि पैसे न देने पर उसके बेटे और पोते को जान से मार दिया जाएगा। पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ केस दर्ज करके उसकी तलाश शुरू कर दी है।

आढ़ती पुरुषोतम दास ने बताया कि वह वर्ष 1996 से बाबरपुर मंडी में आढ़त का काम कर रहे हैं और मंडी में ही रहते है। 14 सितंबर को उन्हें दुकान के गोदाम में एक चिट्‌ठी पड़ी मिली, जिसमें बदमाश ने बेटे और पोते को जान से मारने की धमकी देकर दो करोड़ रुपए की फिरौती मांगी थी। फिरौती की रकम रजापुर गांव में गुरुद्वारे के पीछे रखने की बात लिखी थी।

23 सितंबर को वह ट्यूबवेल पर गए तो वहां दरवाजे में दूसरी चिट्‌ठी टंगी मिली। इसमें बदमाश ने एक करोड़ रुपए की फिरौती मांगी और इस बार रकम ट्यूबवेल के पास ही खेत में छोड़ने की बात लिखी। धमकी को नजरअंदाज कर उन्होंने अपना कामकाज जारी रखा, लेकिन इसी बीच अब गुरुवार को फिर एक धमकी मिली है।

पुरुषोत्तम ने बताया कि खेत में ट्यूबवेल के रास्ते पर धमकी भरी चिठ्ठी पड़ी मिली, जो एक परिचित खुशीराम ने लाकर दी। तीनों चिटि्ठयों में किसी का नाम और पता नहीं है। उन्हें किसी जानकार पर कोई शक भी नहीं है। हमेशा बेटे को भी किसी विवाद में नहीं पड़ने की बात सिखाते हैं। ऐसे में समझ नहीं आ रहा कि कोई अज्ञात व्यक्ति उन से क्यों रंगदारी मांग रहा है।

लॉकडाउन के कारण पहले ही काम धंधा ठप पड़ा है। गेहूं के सीजन में उन्हें काफी नुकसान हुआ था। अब अधिकतर जानकार किसानों को रुपए दे रखे हैं। ऐसे में उनके पास इस मांग को पूरा करने के लिए रुपए नहीं हैं। आखिर मजबूर होकर पुलिस को शिकायत देनी पड़ी। पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ केस दर्ज करके उसकी तलाश शुरू कर दी है। इस बारे में थाना प्रभारी अनिरुद्ध चौहान ने बताया कि विशेष टीम का गठन का आरोपी की धर-पकड़ के प्रयास किए जा रहे हैं। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...