राम रहीम की पैरोल पर वबाल:हाईकोर्ट के एडवोकेट का हरियाणा CS को लीगल नोटिस; पैरोल रद कर नए गाने पर बैन लगाए सरकार

चंडीगढ़7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

साध्वियों के यौन शोषण और हत्या के दोषी राम रहीम की पैरोल पर बवाल बढ़ गया है। पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट एचसी अरोड़ा ने हरियाणा के चीफ सेक्रेटरी को लीगल नोटिस भेजा है। उन्होंने राम रहीम की पैरोल तत्काल रद करने की मांग की है।

इसके अलावा राम रहीम के दिवाली पर रिलीज गाने 'नित दी दिवाली' पर भी रोक लगाने की मांग की है। एडवोकेट ने कहा कि पैरोल पर बाहर आए डेरा प्रमुख को लोकप्रियता हासिल करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है।

सत्संग पर भी खड़े किए सवाल
चंडीगढ़ के वकील एचसी अरोड़ा ने हरियाणा के CS को भेजे नोटिस में कहा है कि राम रहीम को साध्वियों के यौन शोषण और हत्या के मामले में दोषी ठहराया गया है। हरियाणा सरकार ने उन्हें 40 दिन की पैरोल दी, जिसके दौरान वह UP के बागपत में रहकर सत्संग कर रहा है।

एडवोकेट ने राम रहीम के ऑनलाइन सत्संग पर भी सवाल खड़े किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इसमें सत्ताधारी दल BJP और विपक्षी दलों के नेता राम रहीम से आशीर्वाद ले रहे हैं। इससे पंचायत चुनाव और आदमपुर उपचुनाव की निष्पक्षता पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

YouTube पर बैन हो डेर प्रमुख का गाना
राम रहीम के गाने 'साड़ी नित दिवाली' पर भी एडवोकेट ने सवाल खड़े किए हैं। CS संजीव कौशल को भेजे नोटिस में कहा गया है कि सरकार ने उसके गाने को यूट्यूब से हटाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है। वकील ने मांग की कि राम रहीम की पैरोल तुरंत रद की जाए और बलात्कार और हत्या के दोषी होने की वजह से राम रहीम के गाने को यूट्यूब से हटाया जाए।