सोनीपत डबल मर्डर:पुलिसवालों की हत्या में शामिल फरार दो आरोपी भी गिरफ्तार, 5 दिन के रिमांड पर लिया

पानीपत/सोनीपतएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सोनीपत पुलिस की गिरफ्त में पकड़े गए दोनों आरोपी। अब पुलिसकर्मियों की हत्या मामले में सभी आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं। - Dainik Bhaskar
सोनीपत पुलिस की गिरफ्त में पकड़े गए दोनों आरोपी। अब पुलिसकर्मियों की हत्या मामले में सभी आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं।
  • सोनीपत जिले के बुटाना गांव में चाकू मारकर कर दी गई थी दो पुलिसवालों की हत्या
  • वारदात में 6 आरोपी थे शामिल, एक एनकाउंटर में मारा गया, दो युवतियों समेत 5 गिरफ्तार

सोनीपत जिले के बुटाना गांव में बीती 29 व 30 जून की दरमियानी रात को दो पुलिसकर्मियों की चाकूओं से वार करके हत्या के मामले में पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात में शामिल दो आरोपी विकास और नीरज फरार थे। सोनीपत पुलिस की क्राइम इंवेस्टिगेशन एजेंसी (सीआईए) ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया है। दोनों को बुटाना थाना पुलिस के हवाले कर दिया गया है। पुलिस इन्हें कोर्ट में पेश कर 5 दिन के रिमांड पर लिया है। सुबह पहले इनका कोरोना टेस्ट करवाया गया, इसके बाद कोर्ट में पेश किया गया। इस मामले में कुल छह आरोपी थे, एक मुख्य आरोपी अमित एनकाउंटर में मारा गया था। एक आरोपी संदीप, दो युवतियां आशा और सुशीला पहले ही गिरफ्तार हो चुकी हैं।

  

  • गौरतलब है कि सोनीपत जिले के गोहाना कस्बे में 29 व 30 जून की दरमियानी रात को पुलिस कांस्टेबल रविंद्र और एक स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) कप्तान गश्त पर सरकारी बाइक लेकर निकले थे। बुटाना गांव से कुछ दूरी पर उनके शव सड़क के पास पड़े मिले थे। दोनों को चाकूओं से गोद रखा था। 
  • पुलिस ने इस मामले को सुलझाते हुए बताया था कि रात में बदमाश अमित, संदीप, विकास, नीरज बुटाना गांव में कार लेकर पहुंचे थे। वहां से उन्होंने अपनी गर्लफ्रैंड सुशीला और आशा को बुला लिया। दोनों का पहले से आने का प्लान था, जिसके चलते उन्होंने नशीली गोलियां परिवार वालों को खाने में खिला दी थी। 
  • आधी रात में वे घर से बाहर आ गई और बदमाशों की कार में बैठ गई। इसी दौरान वहां से गश्त पर दोनों पुलिसकर्मी निकले। कार के अंदर चार युवक और दो युवतियां थी। युवतियां आपत्तिजनक हालत में थी। इस बात पर उनकी बदमाशों से कहासुनी हो गई। इस कहासुनी में आरोपी अमित ने चाकू से वार करके दोनों पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी। 
  • पुलिस ने घटनास्थल पर रात में मोबाइल की लोकेशन के हिसाब से कुछ नंबर निकाले। उनकी तलाश की गई तो वे जींद के मिले। उन्हें पकड़ने पुलिस पहुंची तो बदमाशों ने पुलिस पर हमला कर दिया। इस मुठभेड़ में पुलिस की गोली लगने से मुख्य आरोपी बदमाश अमित को गोली लगी उसकी मौत हो गई। इसी दौरान एक अन्य आरोपी संदीप को गिरफ्तार कर लिया।
  • मौके का फायदा उठाकर विकास और नीरज फरार हो गए थे। पुलिस ने इन्हें अब गिफ्तार किया है। वहीं युवतियों को 3 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। उन्हें भी पुलिस ने रिमांड पर लिया था, अब रिमांड पूरा होने पर जेल भेज दिया गया है।