सवालों पर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने जवाब दिया:प्रदेश की बेरोजगारी दर भारत में सबसे ज्यादा, इसलिए आरक्षण जरूरी

राजधानी हरियाणा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नाैकरियों में 75% आरक्षण पर दुष्यंत का जवाब

निजी क्षेत्र की नौकरियों में स्थानीय युवाओं को 75% आरक्षण कानून पर उद्योग संगठनों व वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा उठाए सवालों पर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने जवाब दिया है। एक बयान में उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रति व्यक्ति जीएसटी देने में सबसे आगे है। इसके बावजूद बेरोजगारी दर में देश में सबसे ऊपर है। सीएमआईई के अनुसार बेरोजगारी दर हरियाणा में अप्रैल 2019 में 26.05% थी, जो सितंबर 2020 में 33.5% हो गई। स्थानीयों को रोजगार देना जरूरी है। चौटाला ने कहा कि कानून सभी उद्योगपतियों, कंपनियों आदि से 8 दौर की चर्चा के बाद सहमति से तैयार किया है।

अभी हरियाणवियों को 15% नौकरी भी नहीं

डिप्टी सीएम ने कहा कि लाखों एकड़ जमीन अधिग्रहण करके जो कारखाने, कंपनियां हरियाणा में लगीं, उसमें हरियाणा के मूल निवासी 15% से भी कम है। 1 लाख रु. सैलरी जैसी पोस्ट पर तो 1% भी नहीं है। विभिन्न सर्वे के अनुसार, गुड़गांव की आबादी का 25% भी हरियाणा के मतदाता नहीं है।

खबरें और भी हैं...