• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • There Is No Shortage Of Electricity In The State, Haryana Is Buying 4400 MW Power Plants Generating 2400 MW Power

बिजली मंत्री रणजीत चौटाला का दावा:नहीं है प्रदेश में बिजली की कमी, हरियाणा खरीद रहा 4400 मेगावाट बिजली 2400 मेगावाट बिजली पैदा कर रहे पावर प्लांट

हरियाणा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोयले की कमी के चलते बिजली का संकट अभी बना हुआ है। पिछले कई दिनों से प्रदेश में बिजली कट भी लग रहे हैं। ये कट 25 लाख यूनिट से बढ़कर 87 लाख यूनिट तक जा चुके हैं।

हालांकि डिमांड अभी भी 16 से 18 करोड़ यूनिट प्रतिदिन बनी हुई है। हरियाणा में शुक्रवार को 6800 मेगावाट बिजली की खपत हुई। इसमें से हरियाणा ने करीब 4400 मेगावाट बिजली की खरीद की है, जबकि 2400 मेगावाट बिजली हरियाणा के पावर प्लांट में बन रही है। फिलहाल प्रदेश के पास पांच से सात दिन के कोयले के स्टॉक का दावा किया जा रहा है। जबकि कोयले के रैक भी आ रहे हैं।

बिजली विभाग के मंत्री रणजीत चौटाला का कहना है कि अडानी ग्रुप के साथ बिजली विभाग का 1724 मेगावाट बिजली का एग्रीमेंट है। फिलहाल कुछ तकनीकी दिक्कत आई हैं। उन्होंने दावा किया है कि प्रदेश में 14 हजार मेगावाट बिजली है और रोजाना अब 6800 मेगावाट बिजली की खपत हो रही है। विभाग ने 18 रुपए यूनिट तक बिजली की खरीद की है, लेकिन अब यह घटकर आठ रुपए प्रति यूनिट तक आ गई है। अब बिजली की कमी नहीं है।

उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में बिजली के कट नहीं लग रहे, जबकि फाल्ट की वजह से 20 से 30 मिनट तक कहीं बिजली चली जाती है। उन्होंने इस संदर्भ में बिजली विभाग के आला अधिकारियों से बात की है और प्रदेश में बिजली की कमी नहीं आने दी जाएगी। जहां तक कोयले की बात है, कोयले का रैक लगा हुआ है और जल्द ही हरियाणा को और कोयला भी मिल जाएगा।

25 के बाद बढ़ेगी खपत

प्रदेश में अभी फसल कटाई का कार्य चल रहा है। 25 अक्टूबर के बाद से किसान खेतों में सिंचाई करने लगेंगे। क्योंकि उनको नवंबर में गेहूं की बिजाई करनी है। यही नहीं अन्य रबी फसलों की बिजाई भी होनी है। ऐसे में बिजली के टयूबवेल चलेंगे और कृषि क्षेत्र के लिए बिजली की जरुरत पड़ेगी।

खबरें और भी हैं...