आत्मसमर्पण:नूंह में 'न्याय आपके द्वार' मुहिम के तहत दो अपराधियों ने किया सरेंडर, तीन साल से वांछित थे

नूंहएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एएसपी हेमेंद्र मीणा के कार्यालय में आत्म समर्पण करते दोनों अपराधी - Dainik Bhaskar
एएसपी हेमेंद्र मीणा के कार्यालय में आत्म समर्पण करते दोनों अपराधी
  • एएसपी एवं तावडू सदर थाना एसएचओ हेमेंद्र मीणा ने शुरू की थी मुहिम
  • एक अपराधी ने 2018 में किया था सरेंडर, उसके खिलाफ दर्ज थे 13 केस

हरियाणा पुलिस अफसर एसपी नरेंद्र बिजारनिया द्वारा नूंह जिले को अपराधमुक्त करने के लिए चलाई गई मुहिम का असर अब दिखाई देने लगा है। एएसपी एवं तावडू सदर थाना एसएचओ हेमेंद्र मीणा ने 'न्याय आपके द्वार' मुहिम की शुरुआत की थी, जिसके तहत अपराधी स्वयं ही आत्मसमर्पण कर रहे हैं।

इसी कड़ी में अपराध की दुनिया में करीब तीन साल से वांछित दो अपराधियों रफीक पुत्र रहीम खां व जैतून पुत्र रमजान निवासी पचगावां ने एएसपी एवं तावडू सदर थाना एसएचओ हेमेंद्र मीणा के कार्यालय पहुंचकर आत्म-समर्पण कर दिया।

मीणा ने वांछित चले रहे अपराधियों से अपील की है कि वे या तो स्वंय आत्मसमर्पण कर दें या सख्त कार्रवाई के लिए तैयार रहें। इससे पहले 50 हजार रुपए के इनामी वांछित बदमाश जुबैर पुत्र रहीम बख्श निवासी पचगावां ने भी आत्मसमर्पण किया था। उस पर विभिन्न धाराओं के अंतर्गत 13 मामले दर्ज थे। साल 2018 से वह अपराध की दुनिया छोड़ चुका है और एक सामान्य जिंदगी जी रहा है।

खबरें और भी हैं...