पंजाब पुलिस इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हमले का हरियाणा कनेक्शन:ब्लॉस्ट के बाद डेराबस्सी होते हुए अंबाला गई कार, पंजाब पुलिस ने 1 संदिग्ध पकड़ा

चंडीगढ़5 महीने पहले
हमले में इस्तेमाल हुआ राकेट।

पंजाब पुलिस के मोहाली स्थित इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर सोमवार रात सेल्फ प्रॉपेल्ड रॉकेट (RPG) दागने वालों के तार हरियाणा से जुड़े हैं। पंजाब पुलिस को शुरुआती जांच में ऐसे क्लू मिले जिनसे इस मामले का हरियाणा कनेक्शन सामने आ रहा है। इसके बाद पंजाब पुलिस की 2 टीमें मंगलवार सुबह से ही डीएसपी रैंक के अफसरों के नेतृत्व में हरियाणा में छापेमारी कर रही हैं। इन टीमों ने वहां से एक संदिग्ध को हिरासत में भी लिया है।

हरियाणा गई पंजाब पुलिस की दोनों टीमों में 15 पुलिसवाले शामिल हैं। मंगलवार सुबह रवाना हुई ये टीमें मोहाली के साथ लगते हरियाणा के जिलों में रेड कर रही हैं। इनमें से एक टीम चंडीगढ़-नई दिल्ली नेशनल हाईवे से लगते हरियाणा के इलाकों पर फोकस कर रही है।

पंजाब पुलिस के इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हमला: बिल्डिंग उड़ाने की थी साजिश; दीवार से टकरा गया विस्फोटक; DGP बोले-धमाके में TNT का इस्तेमाल

संदिग्ध कार निकली डेराबस्सी की ओर

पंजाब पुलिस को शुरुआती इन्वेस्टिगेशन में मिले क्लू के अनुसार, इस ब्लॉस्ट को अंजाम देने वाले जिस स्विफ्ट कार में शामिल थे, वह धमाके के बाद मोहाली से डेराबस्सी गई और वहां से दप्पर टोल प्लाजा से होते हुए हरियाणा के अंबाला जिले में प्रवेश कर गई। हरियाणा में रेड कर रही टीमों ने अंबाला से ही एक संदिग्ध को पकड़ा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, शुरुआती पूछताछ में उससे कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां मिली हैं जिसके आधार पर आगे चंडीगढ़-नई दिल्ली नेशनल हाईवे से लगते इलाकों में सर्च की जा रही है। इस बीच अंबाला से जिस संदिग्ध को पकड़ा गया है, उसे मोहाली लाया जा रहा है।

इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हमले पर विपक्ष का निशाना: कांग्रेस बोली- आतंकवाद फिर शुरू होने की आशंका, CM ने कहा– बख्शेंगे नहीं

करनाल में पिछले हफ्ते ही पकड़े गए 4 आतंकी

बीती 5 मई को ही हरियाणा में करनाल जिले के बसताड़ा टोल प्लाजा से आईबी की सूचना पर 4 आतंकी गिरफ्तार किए गए थे। जिस जगह से ये चारों आतंकी पकड़े गए, वह टोल चंडीगढ़-नई दिल्ली नेशनल हाईवे पर ही है। अब पंजाब पुलिस के इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हुए ब्लॉस्ट के बाद भी जो संदिग्ध पकड़ा गया, वह इसी नेशनल हाईवे पर पड़ते अंबाला से पकड़ा गया है। पंजाब पुलिस की सर्च भी इसी हाईवे से लगते इलाकों में चल रही है।

इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर हमला: विपक्ष ने घेरा तो भगवंत मान सरकार के बचाव में आए केजरीवाल और राघव चड्‌ढा

5 मई को बसताड़ा टोल से पकड़े गए चारों युवक पंजाब से ताल्लुक रखते हैं और उनसे तकरीबन साढ़े सात किलो आईईडी (विस्फोटक सामग्री), पाकिस्तान में बना एक पिस्टल, मैगजीन, 31 जिंदा कारतूस, छह मोबाइल फोन और 1.30 लाख रुपये नकद बरामद किए थे। पकड़े गए चार युवकों में से 3 फिरोजपुर और एक लुधियाना जिले का रहने वाला था। इनकी पहचान गुरप्रीत सिंह व उसका सगा भाई अमनदीप निवासी गांव विंजो (फिरोजपुर), परमिंदर निवासी मक्खू (फिरोजपुर) और भूपेंद्र सिंह निवासी भाटिया गांव (लुधियाना) के रूप में हुई। यह चारों पाकिस्तान में बैठे आतंकी हरिवंद्र सिंह रिंदा की ओर से फिरोजपुर जिले में बॉर्डर पार से भेजे गए विस्फोटक को इनोवा कार में रखकर तेलंगाना के आदिलाबाद ले जा रहे थे। मोहाली में RPG से हुए ब्लॉस्ट में भी रिंदा का नाम आ रहा है।