पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डीजीपी मनोज यादव का कार्यकाल पूरा:विज का एसीएस को पत्र- डीजीपी के लिए पैनल भेजें, दिक्कत आई तो जिम्मेदार होंगे

राजधानी हरियाणा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश के डीजीपी मनोज यादव का 2 वर्ष का कार्यकाल 21 फरवरी को पूरा हो चुका है। नए डीजीपी की नियुक्ति को लेकर गृह मंत्री अनिल विज ने विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) राजीव अरोड़ा को दूसरी बार फिर पत्र लिखा है। इस बार विज ने चेतावनी के लहजे में लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार डीजीपी का कार्यकाल 2 साल का ही होता है। यदि कोई दिक्कत आई तो इसके जिम्मेदार आप खुद होंगे।

विज ने कहा है कि 2 मार्च तक डीजीपी की पोस्ट को खाली मानकर 30 वर्ष की सेवा पूरी कर चुके 7 आईपीएस का पैनल बनाकर यूपीएससी को तत्काल भेजा जाए। इसमें उन आईपीएस का नाम भी शामिल किया जाए, जिनकी रिटायरमेंट में 6 माह का समय बचा है। वहीं, भले विज ने एसीएस को पत्र लिख दिया है, लेकिन आखिरी फैसला सीएम ही लेंगे।

वहीं, पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट हेमंत कुमार का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार, डीजीपी का कार्यकाल कम से कम 2 साल होना चाहिए। सेवा के विस्तार काे लेकर राज्य सरकार फैसला ले सकती है।

इनसाइड, कार्यकाल बढ़ाने के पक्ष में नहीं थे विज

  • सूत्रों का कहना है कि 7 जनवरी को डीजीपी को सेवा विस्तार दिया गया था, लेकिन विज ने 31 दिसंबर को ही एसीएस को पत्र लिखकर कहा था कि नए डीजीपी की नियुक्ति का पैनल तैयार कर यूपीएससी को भेजें, पर ऐसा नहीं हुआ।
  • डीजीपी का कार्यकाल पूरा होने से 3 माह पहले ही नए डीजीपी की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर यूपीएससी को पैनल भेजना होता है। लेकिन एसीएस ने गृह मंत्री को पत्र का जवाब भी नहीं दिया।
  • वहीं विज को लगता है कि डीजीपी कुछ मामलों में उन्हें बाइपास कर फैसले ले रहे हैं। इसका ताजा उदाहरण डीजीपी का थानों व चौकियों में धार्मिक स्थलों के निर्माण को लेकर जारी पत्र भी है। इसकी जानकारी विज को नहीं थी।
  • डीजीपी द्वारा गृह मंत्री के अनुसार कार्यवाही आगे नहीं बढ़ने को भी इससे जोड़ा जा रहा है। जब विज ने डायल-112 प्रोजेक्ट के धीमी गति पर एडीजीपी एएस चावला से चार्ज वापस लेने के डीजीपी को निर्देश दिए तो वे उनके कार्यालय नहीं पहुंचे थे।

ये नए डीजीपी बनने की दौड़ में आगे

प्रदेश के 5 आईपीएस डीजी रैंक में हैं। इनमें 1984 बैच के सबसे सीनियर आईपीएस एसएस देसवाल केंद्र में डेपुटेशन पर हैं। दूसरे सीनियर आईपीएस 1986 बैच के केके संधू हैं। ये दोनों अधिकारी 6 माह बाद 31 अगस्त को रिटायर होंगे। इनका नाम पैनल में जाना संभावित नहीं है। ऐसे में 1988 बैच के आईपीएस पीके अग्रवाल, 1989 बैच के मोहम्मद अकील और 1989 बैच के आरसी मिश्रा का नंबर आता है।

इनके रिटायरमेंट में दो वर्ष से ज्यादा का समय बचा है। ये डीजी रैंक में भी है। फिलहाल इन तीनों का नाम पैनल में जा सकता है। हालांकि, शत्रुजीत कपूर और देशराज सिंह की सर्विस भी जल्द 30 साल की पूरी होने वाली है। इसके बाद वे डीजी रैंक में आ जाएंगे। पैनल भेजने से पहले ये डीजी बनते हैं तो डीजीपी बनने की दौड़ में 5 आईपीएस हो जाएंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें