छापामारी / जींद में नकली ड्यू-मिरिंडा बना रही फैक्ट्री पकड़ी, 12वीं पास युवक ने यूट्यूब से लिया आइडिया

जींद. फैक्ट्री में जहां से कोल्ड ड्रिंक बोतलों में भरी जाती है उसको दिखाते डिटेक्टिव स्टॉफ के इंचार्ज इंस्पेक्टर सतबीर मलिक। जींद. फैक्ट्री में जहां से कोल्ड ड्रिंक बोतलों में भरी जाती है उसको दिखाते डिटेक्टिव स्टॉफ के इंचार्ज इंस्पेक्टर सतबीर मलिक।
X
जींद. फैक्ट्री में जहां से कोल्ड ड्रिंक बोतलों में भरी जाती है उसको दिखाते डिटेक्टिव स्टॉफ के इंचार्ज इंस्पेक्टर सतबीर मलिक।जींद. फैक्ट्री में जहां से कोल्ड ड्रिंक बोतलों में भरी जाती है उसको दिखाते डिटेक्टिव स्टॉफ के इंचार्ज इंस्पेक्टर सतबीर मलिक।

  • पानीपत में नकली ड्यू की 36 हजार बोतलें मिलने के बाद नया खुलासा
  • 3 रखे मजदूर खुद फील्ड से लेकर आता था ऑर्डर बनाने लगा कोल्ड ड्रिंक
  • जिन टंकियों में कच्चा माल भरा था उसमें पड़ी थी मक्खियां, बरामद हुई 10 हजार खाली बोतल व दो ब्रांड के रैपर

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 06:37 AM IST

जींद. मात्र 12वीं पास सोनीपत के जागसी गांव निवासी जयबीर पहले यहीं पर ऑयल मिल चलाता था। लेकिन अचानक उसने यहां कोल्ड ड्रिंक की फैक्ट्री खोल ली। इसके लिए उसने किसी से ट्रेनिंग नहीं ली। उसने भास्कर संवाददाता को बताया कि उसने यू टयूब सर्च करके जानकारी ली थी। उसमें उसने कम लागत में कोल्ड ड्रिंक तैयार करने की सोची। मार्केट में डिमांड की कमी न हो, इसके लिए उसने ब्रांडेड कंपनियों का रैपर इस्तेमाल किया। 8 माह पहले मशीनों आदि का सेटअप तैयार कर लिया है।

दिल्ली से खाली बोतले व रैपर आदि पहले ही मंगवा लिए। ताकि गर्मी के सीजन में अच्छी कमाई की जा सके। नवंबर में उसने किराएनामे को रिन्यू करवा कर कोल्ड ड्रिंक फैक्टरी लगाने का फैसला लिया। उसने इसे फरवरी में बाजार में उतार भी दिया।  

लॉकडाउन के चलते बचा रह गया माल : ब्रांड होने के कारण और सस्ता देने के कारण बाजार में मांग अधिक थी, फरवरी में शुरुआत के साथ बाजार में अच्छा खासा माल बेच लिया था। इसके लिए उसने तीन नौकर रखे थे। लेकिन मार्च में लॉकडाउन लगा तो पहले से काफी मात्रा तैयार माल बच गया। जो पकड़ा गया है। वह खुद जींद सहित आसपास के शहरों व कस्बों में जाकर ऑर्डर लेकर आता था। 

कोई बोर्ड नहीं लगाया ताकि कोई जान न सके
किसी को शक न हो। इसके लिए गेट प साइन बोर्ड नहीं लगाया था। फैक्ट्री के फ्रंट का हिस्से ऑफिस था। पिछले का हिस्सा नकली कोल्ड ड्रिंक बनाने के लिए प्रयोग में लाया जा रहा था। 

यह कोल्ड ड्रिंक तो जान लेवा था

पुलिस को फैक्टरी से काफी मात्रा में सोडियम क्लोराइड, टेट्राजाइन केमिकल की बोतल बरामद की हैं। इसके अलावा पानी साफ करने वाला केमिकल बरामद हुआ है। सिविल अस्पताल के फिजीशियन डॉ. नरेश वर्मा का कहना है कि टेट्राजाइन सेहत के लिए हानिकारक होता है। इससे एलर्जिक बीमारियां जिसमें चमड़ी पर धब्बे बनना, गला खराब होना, आंखों में जलन सहित कई अस्थमा जैसी दिक्कतें हो सकती हैं। टेट्राजाइन एक प्रकार का कलर होता है और जिस प्रोडक्ट को जैसा रंग देना होता है उसमें उसी तरह का मिला दिया जाता है। सोडियम क्लोराइड नमकीन करने के लिए यूज होता है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना