पांच लाख के दबाव में आत्महत्या:जींद में कबाड़ी पर लोहा चुराने का आरोप, वसूली के लिए प्रताड़ित करने पर दी जान, 3 पर केस

जींद10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के जींद में कबाड़ व्यापारी ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। उस पर एक अन्य व्यापारी लोहा, सिल्वर चुराने का आरोप लगाकर पांच लाख रुपए के लिए दबाव बना रहा था। पुलिस ने व्यापारी और उसके दो बेटों के खिलाफ आत्महत्या के लिए विवश करने के आरोप में मामला दर्ज किया है। मृतक के शव को पोस्टमार्टम के बाद वारिसों को सौंप दिया है।

दुर्गा कॉलोनी निवासी रामनरेश (52) ने दुकान पर फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक के साले रामदिया ने बताया कि वह जीजा के साथ कबाड़ी और बर्तनों का काम करता है। 19 नवम्बर को भूपेंद्र नगर निवासी वेद सिंह उनकी दुकान पर 20-22 किलोग्राम लोहा बेचकर गया था। यहां से विवाद शुरू हुआ और रामनरेश की मौत तक पहुंच गया।

लोहे की चोरी का इल्जाम

चौड़ी गली निवासी पवन उर्फ पौनी जो कि कबाड़ी का काम करता है और उसकी दुकान भी उनकी दुकान के साथ लगते ही है। 19 नवम्बर को वह दुकान पर आया और उसकी 20-22 किलोग्राम लोहे को देखकर बोला कि यह लोहा तो उसकी दुकान का है। उन्होंने बताया कि यह भूपेंद्र नगर के वेद सिंह से लिया है। वेद सिंह के पास ले जाकर पूरी तसल्ली करवा दी।

जींद में व्यापारी का सुसाइड नोट।
जींद में व्यापारी का सुसाइड नोट।

प्रताड़ना से था परेशान

21 नवम्बर को पवन कबाड़ी और उसका लड़का पंकज और मोनू उनकी दुकान पर आए तथा उसके जीजा रामनरेश को कहने लगे कि तूने इस लोहा के अलावा पहले भी 5-6 लाख का लोहा और सिल्वर चोरी करवाया है इसलिए या तो 5 लाख रुपए दो अन्य तुझे पुलिस केस करवाकर जेल भिजवा देंगे और मौहल्ले में तेरी बेइज्जती करवाएंगे। उनकी धमकी से आहत होकर रामनरेश ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।

सुसाइड नोट मिला

मृतक के कब्जे से एक पेज का सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें उसने पवन उर्फ पौनी और उसके बेटे पंकज और मोनू पर आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने के आरोप लगाए हैं। रोहतक रोड चौकी प्रभारी सुधीर ने बताया कि पुलिस ने पुलिस ने गुरुवार को सिविल अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। वहीं इस मामले में पवन कबाड़ी और उसका लड़का पंकज और मोनू के खिलाफ आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने के आरोप में केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।