एजुकेशन:सीट अलॉटमेंट के बाद दूसरी काउंसलिंग में भाग लेने पर विद्यार्थियों को देना होगा 500 रुपए फाइन

जींदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जींद. जींद की राजकीय आईटीआई में बच्चों के दस्तावेजों की वेरिफिकेशन करते कमेटी सदस्य। - Dainik Bhaskar
जींद. जींद की राजकीय आईटीआई में बच्चों के दस्तावेजों की वेरिफिकेशन करते कमेटी सदस्य।

औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) में दाखिले को लेकर पहली मेरिट लिस्ट जारी हो चुकी है। इसमें शामिल विद्यार्थियों को 16 अक्टूबर तक ऑनलाइन फीस जमा करवानी होगी। विद्यार्थियों के दस्तावेजों की जांच का गुरुवार को अंतिम दिन था, लेकिन इसे बढ़ाकर शनिवार कर दिया गया है। शुक्रवार और शनिवार को अवकाश के बावजूद विद्यार्थी आईटीआई में पहुंचकर दस्तावेजों की वेरिफिकेशन करवा सकते हैं। जिन विद्यार्थियों का नाम पहली मेरिट लिस्ट में आ चुका है। उन्हें सीट अलॉटमेंट हो चुकी है।

दाखिला नहीं लेते हैं तो दूसरी मेरिट लिस्ट में शामिल होने के लिए लड़कों को 500 रुपए और लड़कियों को 250 रुपए का फाइन देना होगा। उसके बाद ही दूसरी मेरिट लिस्ट में भाग ले सकेंगे। जींद की राजकीय आईटीआई में पहली मेरिट लिस्ट में 606 सीट अलॉट थी। इनमें से 98 विद्यार्थी अपनी फीस जमा करवा चुके हैं, जबकि 300 विद्यार्थियों के दस्तावेजों की जांच की जा चुकी है। 16 अक्टूबर तक विद्यार्थियों के आवेदनों की वेरिफिकेशन की जाएगी। उनकी दाखिला फीस जमा होगी।

दाखिला फीस जमा होने के बाद सीट कन्फर्म मानी जाएगी। सीट अलॉटमेंट होने के बाद दूसरी मेरिट लिस्ट में भाग लेना है तो लड़कों को 500 रुपए और लड़कियों को 250 जुर्माना देना होगा। अगर विद्यार्थी के आवेदन में त्रुटि है या दूसरी कोई तकनीकी समस्या है तो उसे अपडेट करवाकर दूसरी मेरिट लिस्ट में शामिल किया जा सकता है, उस स्थिति में उसे जुर्माना देने की जरूरत नहीं होगी। जींद की राजकीय आईटीआई में दो ट्रेड की एक-एक यूनिट बढ़ाई : जींद की राजकीय आईटीआई में दो नई ट्रेड एडिशनल तौर पर शुरू की जा रही हैं। ट्रैक्टर मैकेनिक और सेविंग टेक्नोलॉजी में एक-एक अतिरिक्त यूनिट इस बार शुरू की गई है। दोनों ही ट्रेड एनसीवीटी होंगी। इससे विद्यार्थियों को काफी फायदा होगा।

दस्तावेजों की जांच के बाद फीस नहीं भर रहे विद्यार्थी
आईटीआई में दस्तावेजों की जांच के बाद विद्यार्थी ऑनलाइन फीस नहीं भर रहे हैं। दरअसल सामने आया है कि विद्यार्थी दस्तावेजों की वेरिफिकेशन के बाद समझ रहे हैं कि उनका दाखिला कन्फर्म हो गया है, जबकि उनकी फीस पेंडिंग पड़ी है। जींद की राजकीय आईटीआई के प्राचार्य अनिल गोयल ने बताया कि दस्तावेजों की वेरिफिकेशन की अलग प्रक्रिया है, लेकिन फीस जमा होगी, तभी सीट कन्फर्म मानी जाएगी।

जिन भी विद्यार्थियों का नाम पहली मेरिट लिस्ट में आया है, वह सभी विद्यार्थी 16 अक्टूबर तक अपनी दाखिला फीस ऑनलाइन जमा करवा दें। जिन विद्यार्थियों के दस्तावेजों की वेरिफिकेशन नहीं हो पाई, वह शुक्रवार और शनिवार को करवा सकते हैं। -अनिल गोयल, प्राचार्य, राजकीय आईटीआई, जींद।

खबरें और भी हैं...