पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Jind
  • Blood Stock Reduced In Government Hospital, Only 100 Units Left In Place Of 300, Philanthropists Came Forward, Blood Donation Started

खून की समस्या:सरकारी अस्पताल में ब्लड का स्टाक घटा, 300 की जगह मात्र 100 यूनिट बचा, समाजसेवी आए आगे, शुरू हुआ ब्लड डोनेशन

जींदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जींद. अस्पताल में रक्तदान करता युवक। - Dainik Bhaskar
जींद. अस्पताल में रक्तदान करता युवक।
  • वाट्सएप व सोशल मीडिया से शहर की सामाजिक संस्थाओं से जुड़े अस्पताल करा रहे रक्तदान

कोरोना महामारी में रक्त की कमी का भी संकट है। भीड़ लगने से संक्रमण फैलने के खतरे के चलते रक्तदान शिविर भी नहीं लग रहा है इसलिए ब्लड की पूर्ति नहीं हो पा रही है। आम दिनों में सिविल अस्पताल के ब्लड बैंक में 300 से अधिक यूनिट का स्टॉक रहता था,अब स्टॉक 100 यूनिट तक पहुंच गया है।

अब केवल गर्भवती महिलाओं, एनीमिया मरीज या फिर दुर्घटना में घायल मरीजों के साथ-साथ थैलेसिमिया के कुछ मरीजों को ही खून की आवश्यकता पड़ रही है। इसे देखते हुए स्वयंसेवी संस्थाओं की मदद से कुछ लोगों को बुलाकर अस्पताल में ब्लड डोनेशन कराया जा रहा है।

संस्थाएं करवा रहीं हैं रक्तदान

ब्लड की कमी की सूचना पर समाजसेवी संस्थाएं रक्तदान के लिए आ रही हैं। अस्पताल प्रशासन की तरफ से शहर से रक्तदाताओं को फोन कर रक्तदान के लिए बुलाया जा रहा है। इस महामारी में बड़ा कैंप तो नहीं लगाया जा सकता, ऐसे में सिविल अस्पताल में ही प्रतिदिन 15 से 20 लोगों को बुलाकर रक्त की कमी पूरी करने का निर्णय लिया गया है। इस पर शहर की सामाजिक संस्थाओं ने भी अपना हाथ आगे बढ़ाया है और रक्तदान करना शुरू कर दिया है।

सेवाभाव: 20 युवाओं ने किया रक्तदान

​​​​​​​फिलहाल महामारी के चलते सिविल अस्पताल में भी रक्तदान करने वाले कम आ रहे थे। ऐसे में अस्पताल प्रशासन ने रक्तदानियों से संपर्क किया। कुछ रक्तदाता खुद अस्पताल पहुंचे तो उन्हें रक्त की कमी के बारे में पता चला। ऐसे में युवाओं की टीमें आगे आई। शुक्रवार को अलग-अलग संस्थाओं से जुड़े 20 लोग सिविल अस्पताल के ब्लड बैंक में रक्तदान करने के लिए पहुंचे।

15-20 को बुलाकर करा रहे रक्तदान

​​​​​​​फिलहाल 100 यूनिट रक्त उपलब्ध है। कैंप न लगने की वजह से यूनिट नहीं बढ़ रही। आम दिनों में 300 से ज्यादा यूनिट का स्टॉक रहता था। विभाग के पास लगभग 500 लोगों की सूची है, जिनसे अब संपर्क कर प्रतिदिन 15 से 20 लोगों को रक्तदान करने के लिए बुलाया जा रहा है ताकि रक्त की कमी न रहे। -डॉ. अजय, इंचार्ज, ब्लड बैंक, जींद।

खबरें और भी हैं...