पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Jind
  • Chairperson's Chair In Danger, 21 Councilor's Sign Claim On No confidence Motion, Rebel Says now Removing Chairperson Priority Discussion On Next Head Later

विवादों की नगर परिषद:चेयरपर्सन की कुर्सी खतरे में, अविश्वास प्रस्ताव पर 21 पार्षद के साइन का दावा, बागी बोले-अभी चेयरपर्सन को हटाना प्राथमिकता अगले प्रधान पर चर्चा बाद में

जींद12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

विभिन्न मुद्दों पर पार्षदों की नाराजगी झेल रहीं नगर परिषद की चेयरपर्सन पूनम सैनी की कुर्सी खतरे में है। पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव के लिए जरूरी 21 वोटों की व्यवस्था कर ली है। श्राद्ध के बाद कभी भी डीसी को नोटिस दिया जा सकता है। चेयर पार्षद पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे बागी पार्षद काफी दिन से इसके प्रयास कर रहे थे। लेकिन संख्या पूरी नहीं हो पा रही थी।

अब वे पार्षद भी बागी हो गए हैं जो पूनम सैनी के साथ माने जा रहे थे नगर परिषद में चेयरमैन सहित 31 पार्षद हैं और तीन मनोनीत पार्षद है। अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए पत्र पर 21 पार्षदों के हस्ताक्षर जरूरी होते हैं। 26 अगस्त तक अविश्वास प्रस्ताव पर 20 ही पार्षदों के साइन हो पाए थे। दैनिक भास्कर ने सबसे पहले 26 अगस्त को नगर परिषद की इस उठापटक का खुलासा किया था लेकिन एक पार्षद की कमी के चलते पार्षद नोटिस नहीं दे पाए थे।

जींद नगर परिषद का चुनाव 22 मई 2016 को हुआ था। पार्षदों ने शपथ लेने के बाद कभी सीएम मनोहरलाल खट्टर के खासम खास माने जाने वाले बीजेपी नेता जवाहर सैनी की पत्नी पूनम सैनी को चेयरमैन चुना था। उस समय में परिषद में बीजेपी समर्थित पार्षदों का पलड़ा भारी था। लेकिन बीते काफी समय से पूनम सैनी से बीजेपी के पार्षद भी असंतुष्ट हैं। इसमें कई बागी हो चुकी है। अब बागी पार्षदों का दावा है कि यह स्थिति उलटी हो चुकी है। लगभग सभी पार्षद चेयरमैन के काम-काज और व्यवहार से खुश नहीं है। उनका कहना है कि चेयर पर्सन न कुछ लोगों को साथ लेकर भेदभाव कर रहीं हैं बल्कि भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।

चेयरपर्सन के साथ खड़े रहने वाले पार्षद भी विरोध में

बागी पार्षदों का कहना है कि फिलहाल उनका पूरा ध्यान चेयरपर्सन पूनम सैनी को हटाने पर है। अगला प्रधान कौन होगा इस पर अभी चर्चा नहीं की जा रही है। बागी पार्षदों में वो पार्षद भी शामिल है जो कभी चेयरपर्सन के खासमखास माने जाते थे। इनमें एक-दो तो ऐसे हैं जो हमेशा ही चेयरपर्सन के साथ खड़े दिखाई देते थे।

अब भ्रष्टाचार नहीं बर्दाश्त करेंगे, पीछे नहीं हटेंगे

अविश्वास के जरूरी पार्षदों की संख्या अब पूरी हो गई है। प्रस्ताव पर 21 पार्षद साइन कर चुके हैं। जल्द ही डीसी को नोटिस सौंपा जाएगा। भ्रष्टाचार को किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। सुदेश देवी, पूर्व चेयरमैन एवं पार्षद वार्ड नंबर 24

चेयरमैन विकास कार्यों में भ्रष्टाचार कर रहे हैं और पूरा शहर इससे परेशान है। इसके चलते पार्षदों का चेयरमैन से विश्वास खत्म हो गया है। श्राद्ध के बाद डीसी को अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दे दिया जाएगा। विनोद आशरी, पूर्व उपप्रधान एवं पार्षद वार्ड नंबर 15

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें