पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सिक्योरिटी राशि रखना अनिवार्य:उपभोक्ताओं को अब बिजली खपत के अनुसार देना होगा सिक्योरिटी चार्ज

जींदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिलाभर में 145331 उपभोक्ता, एसएमएस के जरिए भेजी जाएगी जानकारी
  • मई से हर उपभोक्ता के बिजली बिल के साथ जुड़ेगा सिक्योरिटी चार्ज

बिजली उपभोक्ताओं को अब खपत के अनुसार ही सिक्योरिटी चार्ज जमा करवाना होगा। इसके लिए मई माह में हर उपभोक्ता के बिजली बिल के साथ सिक्योरिटी चार्ज जुड़कर आएगा। जिलाभर में 145331 उपभोक्ता है। बिजली निगम ने सिक्योरिटी राशि रखना अनिवार्य किया हुआ है।

अब औसत बिलों के आधार पर सिक्योरिटी राशि तय की जा रही है। डिफाल्टरों से बचने के लिए हरियाणा बिजली विनियामक आयोग के निर्देशानुसार सभी सक्रिय बिजली उपभोक्ताओं को वित्तीय वर्ष में दो औसत बिलिंग चक्र के बराबर सिक्योरिटी राशि रखना अनिवार्य है।

दरअसल, दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के जींद के एसई श्यामबीर सैनी ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में कोविड-19 महामारी के प्रकोप के कारण दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा बिजली उपभोक्ताओं की अग्रिम खपत जमा की समीक्षा स्थगित कर दी गई थी, जिसे हरियाणा बिजली विनियामक आयोग (एचईआरसी) के निर्देशों के अनुसार 24 मार्च, 2021 से प्रभावी बनाया गया है और एचईआरसी के मानदंड़ो को ध्यान में रखते हुए समीक्षा राशि को उपभोक्ता के खाते में दो किस्तों में चार्ज किया जाएगा या वापस किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा उपभोक्ताओं को एसएमएस के माध्यम से भी इस सूचना से अवगत करवाया जा रहा है।

सिक्योरिटी राशि अधिक जमा है तो दी जाएगी राहत

बिजली उपभोक्ताओं के छह बिलों के औसत के आधार पर सिक्योरिटी राशि तय की गई है। अगर उपभोक्ता की एसीडी औसत बिजली बिल से कम है तो उपभोक्ता के दो बिलों में चार्ज लगाकर वसूली की जाएगी। अगर सिक्योरिटी राशि अधिक है तो उपभोक्ता को बिजली बिल में वह राशि कटौती कर राहत दी जाएगी। उदाहरण के लिए अगर किसी उपभोक्ता का 2000 हजार रुपए हर माह बिल आता है। तो बिजली निगम 4000 रुपए की सिक्योरिटी राशि खातों में जमा रखता है ताकि डिफाल्टर होने पर दो वह राशि सिक्योरिटी अमाउंट में से काटी जा सके।

उपभोक्ताओं के बिजली बिलों साथ जुड़कर आएगा सिक्योरिटी चार्ज : एसई

हरियाणा बिजली विनियामक आयोग के निर्देशानुसार सभी सक्रिय बिजली उपभोक्ताओं को वित्तीय वर्ष में दो औसत बिलिंग चक्र के बराबर सिक्योरिटी राशि रखना अनिवार्य है। अब मई माह में बिजली बिलों के साथ उपभोक्ताओं का सिक्योरिटी चार्ज जुड़कर आएगा। -श्यामबीर सैनी, एसई, बिजली निगम जींद।

बिलिंग में नहीं आएगी कोई त्रुटिया

​​​​​​​इस संबंध में हाल ही में यह देखा गया है कि कुछ उपभोक्ताओं को स्पॉट बिल और ऑनलाइन उपलब्ध बिल में दिखाई गई अलग-अलग राशि के कारण अपने ऊर्जा बिलों का भुगतान करने में कठिनाई का सामना पड़ा है। यह इस तथ्य के कारण हुआ कि ऐसे उपभोक्ताओं की बिलिंग प्रक्रिया 24 मार्च, 2021 से पहले आइटी प्रणाली में चल रही थी यानि सिक्योरिटी राशि की समीक्षा प्रक्रिया शुरू होने से पहले, आगे बिजली बिलों में त्रुटियां नहीं हो पाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें