झांसा दे रहे प्रॉपर्टी डीलर:शहर में पनप रही अवैध काॅलोनियां, जिला नगर योजनाकार विभाग ने जारी किए खसरा नंबर

जींदएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीटीपी बोले- अवैध कॉलोनियों की नहीं होगी रजिस्ट्री, निर्माण को तोड़ा जाएगा और एफआईआर भी दर्ज होगी

शहर में दिन प्रतिदिन अवैध काॅलोनियां लगातार पनप रही हैं। इसको लेकर अब जिला नगर योजनाकार विभाग अलर्ट हो गया है और लोगों को अवैध काॅलोनियों में प्लॉट आदि न खरीदने के लिए खसरा नंबर आदि जारी किए हैं। डीटीपी अरविंद्र ढुल ने बताया कि शहर में प्रॉपर्टी डीलरों द्वारा अवैध काॅलोनी काटकर जहां सरकार के राजस्व को नुकसान पहुंचाया जा रहा है वहीं आमजन भी इन लोगों के झांसे में आ रहे हैं।

इन अवैध काॅलोनियों में जो भी कोई प्लॉट खरीदता है तो उसकी रजिस्ट्री नहीं होती और जिला नगर योजनाकार विभाग द्वारा इन काॅलोनियों में जो भी मकान बनाता है उनके खिलाफ तोड़फाेड़ की कार्रवाई अमल में लाई जाती है, ऐसे लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवाई जाती है।

जिला नगर योजनाकार अरविंद्र ढुल ने बताया कि जिले में कुछ प्रॉपर्टी डीलरों द्वारा अवैध कॉलोनी काटी जा रही हैं, जिनमें मुख्यत: जींद-सफीदों रोड पर सुप्रीम स्क ूल के पास खसरा नंबर 117//18,19, निर्जन गंाव से पिंडारा सड़क पर खसरा नंबर 59//2,9 और नेशनल हाईवे बाईपास पर बने नए बस अड्डा के पास खसरा नंबर 7//20 से 23, 20//1, 2, 3, 8, 9, 10, 11, 12, 13, 18, 19, 20 आदि शामिल हैं।

इसी प्रकार 21//5, 6, 15 व जींद से गोहाना रोड पर धागा मिल के पास खसरा नंबर 38//1 से 5 व 8 से 13 नंबर को प्रशासन द्वारा अवैध माना गया है। उन्होंने बताया कि ऐसे प्रॉपर्टी डीलर शहर में सक्रिय हैं और शहर में अलग-अलग जगहों पर अवैध काॅलोनी काटकर सरकार के राजस्व को नुकसान पहुंचाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने आम लोगों से अपील की है कि वे इन खसरा नंबरों में कोई प्लाॅट या मकान न खरीदें। यहां हुए अवैध निर्माण को न केवल तोड़ा जाएगा, बल्कि एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी

अप्रूव्ड काॅलोनी में अपना प्लाॅट या मकान बनाएं
उन्होंने कहा कि अगर किसी को कोई भी जानकारी इस संबंध में लेनी है तो वह लघु सचिवालय में तीसरी मंजिल के कमरा नं 415 में आकर जानकारी ले सकते हैं ताकि अपनी जमापंूजी को बचाकर अच्छी और अप्रूव्ड काॅलोनी में अपना प्लाट या मकान बनाएं ताकि अच्छे से जीवन बसर कर सके। जिला के लोगों से आह्वान किया कि इसलिए वे इन कॉलोनियों में प्राॅपर्टी डीलरों द्वारा अवैध तरीके से काटे गए प्लाॅटों को न खरीदें ।

खबरें और भी हैं...