पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीसरी लहर का अलर्ट जारी, तैयारी अधूरी:आईसीयू बनने में लगेंगे दो माह, टेंडर लगाए, नरवाना में नीकू वार्ड बजट की कमी से रुका

जींद13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जींद. सिविल अस्पताल में आक्सीजन प्लांट लगाने के लिए तैयार हुआ कमरा। - Dainik Bhaskar
जींद. सिविल अस्पताल में आक्सीजन प्लांट लगाने के लिए तैयार हुआ कमरा।
  • बच्चों के लिए 200 बेड कराए हैं तैयार

कोरोना की तीसरी लहर का अलर्ट जारी हो गया है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग की तैयारी अधूरी है। जिला मुख्यालय में तैयार होने वाला 12 बेड आईसीयू का 50 प्रतिशत काम अभी बाकी है। नरवाना में बनाया जाने वाले नीकू वार्ड के लिए अब तक पूरा बजट ही जारी नहीं हो सका है। ऑक्सीजन प्लांट अगले सप्ताह शुरू होने की उम्मीद है, लेकिन मशीन आने के बाद उसका भी पहले ट्रायल लिया जाएगा।

ट्रायल पूरा होने के बाद ही उसे पूरा माना जाएगा। दूसरी लहर में तैयारियां पूरी न होने से महामारी ने विकराल रूप लिया था। इसे देखते हुए तीसरी लहर की पहले से तैयारी शुरू की गई, लेकिन काम नियत समय में पूरे नहीं हो रहे हैं। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने जल्द तीसरी लहर की आशंका जताई है। ऐसे में पिछले डेढ़ माह से स्वास्थ्य विभाग तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी में जुटा है।

फिलहाल जिले में स्वास्थ्य विभाग की तैयारी अधूरी पड़ी है। सिविल अस्पताल में बनने वाले आईसीयू का सिविल वर्क पूरा हुए लगभग एक माह हो चुका है। अब इलेक्ट्रिक वर्क होना है। इसके लिए लगभग पौने तीन करोड़ रुपए का बजट मिल चुका है, लेकिन अब पीडब्ल्यूडी ने टेंडर जारी कर काम शुरू नहीं किया है। मशीनों व अन्य सामान के टेंडर भी होने हैं। अस्पताल के तब तक अस्थायी आईसीयू में ही वेंटिलेटरों के जरिये काम चलाना होगा।

नरवाना में नीकू वार्ड को नहीं मिला पूरा बजट

नरवाना में बनने वाले नीकू वार्ड का बजट तो जारी कर दिया है, लेकिन वह कम था। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से 16 लाख रुपए आए हैं जबकि 17.48 लाख रुपए आने थे। 16 लाख ट्रांसफर किए जा चुके हैं। बाकी पैसे आने हैं। यह राशि आने के बाद ही नीकू वार्ड के लिए टेंडर जारी किए जाएंगे। यदि राशि आती है तो लगभग एक माह में यह बनकर तैयार हो जाएगा। सबसे बड़ी समस्या यह है कि विभाग के पास जिले में केवल दो ही बाल रोग विशेषज्ञ हैं।

इसमें लगेगा समय: ऑक्सीजन प्लांट तैयार, दो दिन बाद आएंगी मशीनें

वैसे सिविल अस्पताल में अॉक्सीजन प्लांट अगले सप्ताह चालू हो जाएगा। डीआरडीओ की तरफ से भेजी जाने वाली मशीनें अगले दो दिन में सिविल अस्पताल में पहुंच जाएंगी। उसके बाद उन्हें इंस्टाल करने का काम किया जाएगा। इंस्टाल होने के बाद उसका ट्रायल लिया जाएगा। ट्रायल में सफल होने के बाद ही उसका काम पूरा होगा।

बड़े वेंटिलेटर आए, पर लगे नहीं

स्वास्थ्य विभाग को लगभग 15 दिन पहले दो बड़े आईसीयू वार्ड के वेंटिलेटर मिल गए थे। इनकी कीमत लगभग 70 लाख हैं, लेकिन अब तक यह इंस्टाल न हीं हो सके हैं। अस्पताल प्रशासन द्वारा कंपनी को पत्र लिखा जा चुका है। जल्द यह शुरू होने की उम्मीद है।

जिलेभर में 200 बेड की व्यवस्था, नीकू वार्ड में 19 बेड लगाए

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले की सभी पीएचसी, सीएचसी और अस्पतालों के लिए 200 बेड की व्यवस्था की गई है। जिला मुख्यालय पर 80 बेड बच्चों के लिए रखे गए हैं, जो सभी आक्सीजन युक्त है। इसके अलावा 14 बेड वेंटिलेटर वाले हैं। इसके अलावा नीकू वार्ड में 19 बेड लगाए गए हैं। इसमें 9 रिजर्व अलग से रखे गए हैं। विभाग के पास जिले भर में 161 आक्सीजन कंस्ट्रेटर भी मौजूद हैं।

डॉक्टरों व स्टाफ को दी जाएगी वेंटिलेटर चलाने की ट्रेनिंग

100 डॉक्टर व स्टाफ को वेंटिलेटर चलाने की ऑनलाइन ट्रेनिंग दी जा चुकी है। फिजिकल रूप से ट्रेनिंग बाकी है। इसके लिए दो डॉक्टर व दो स्टाफ नर्सों को प्रशिक्षित किया गया है। अगले सप्ताह से 15-20 का बैच बनाकर सभी को यह ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी।

दावा: तैयारी पूरी है, कामों का जल्द टेंडर हो जाएगा

तीसरी लहर को लेकर पूरी तैयारी है। जिले भर में 200 बेड की व्यवस्था की गई है। दवा, मशीन व अन्य सामान उपलब्ध हैं। नरवाना में नीकू वार्ड के लिए जल्द टेंडर करवाया जाएगा। इसकी राशि जमा करवाई जा रही है।-डॉ. मनजीत सिंह, सीएमओ, जींद।

सिविल अस्पताल में आईसीयू का काम चल रहा है। ऑक्सीजन प्लांट अगले सप्ताह चालू हो जाएगा। दो दिन में मशीन आ जाएंगी। दवा, मशीन अधिकतर उपलब्ध है और बाकी सामान आ रहा है। हम पूरी तरह से तैयार हैं।-डॉ. गोपाल गोयल, एमएस, सिविल अस्पताल, जींद।

खबरें और भी हैं...