पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Jind
  • Leakage In Public Health's Drinking Water Pipeline On Apollo Road, Three Days Ago, Near The Manhole, The Road Was Closed, NAP Closed It By Pouring Soil.

सड़क धंसने का सिलसिला रुक नहीं रहा:अपोलो रोड पर पब्लिक हेल्थ की पेयजल पाइप लाइन में लीकेज, तीन दिन पहले बनाए मैनहोल के पास धंसी सड़क, नप ने मिट्टी डालकर कराया बंद

जींद7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जींद. अपोलो रोड पर सड़क धंसे से फंसा वाहन। - Dainik Bhaskar
जींद. अपोलो रोड पर सड़क धंसे से फंसा वाहन।
  • रोहतक रोड, अंडरपास के पास जेडी-7 और बस अड्डे के पास सड़क धंस चुकी है
  • अमृत के तहत काम के बाद चौथी जगह धंसी सड़क

बरसात के दौरान शहर की सड़कें व मिट्टी धंसने के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। दो दिन से रुक-रुककर हो रही बरसात के बाद शनिवार रात को नरवाना से रेलवे रोड की तरफ जाने वाले अपोलो रोड पर मैनहोल के पास सड़क धंस गई। इस सड़क से जैसे ही टाटा-एस गुजरा तो वह उसमें फंस गया। टाटा-एस पलटने ही वाला था कि आसपास के लोगों ने उसे पलटने से बचाया। काफी मशक्कत के बाद उसे बाहर निकाला गया।

सुबह इसकी सूचना जन स्वास्थ्य विभाग व नगर परिषद के अधिकारियों को दी गई। नगर परिषद के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और गड्ढे के आसपास मिट्टी भरवाकर उस एरिया को पूरी तरह से समतल कर दिया गया, लेकिन किसी विभाग की तरफ से लीकेज को चेक करने का काम नहीं किया गया। ऐसे में दोबारा लीकेज होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।

नगर परिषद के ठेकेदार द्वारा अमरुत योजना के तहत 3 दिन पहले ही यहां पर मैनहोल बनाया गया था। दुकानदारों ने बताया कि मैनहोल बनाने के दौरान पब्लिक हेल्थ की पेयजल पाइप लाइन में लीकेज हो गई थी। उस समय उसे ठीक कर दिया गया था, लेकिन लीकेज पूरी तरह से बंद नहीं होने के कारण शनिवार रात को पानी के कारण मिट्टी धंस गई। इसके चलते शनिवार रात को जब टाटा-एस गुजरा तो उसमें फंस गया। सुबह सूचना पाकर नप के ठेकेदार के कर्मचारी पहुंच गए और गड्ढे को मिट्टी से भर दिया और पूरे रास्ते को समतल कर दिया गया।

खोदाई के लिए नहीं मिल रही मंजूरी
बरसाती पानी की निकासी के लिए पुराने अनाज मंडी रोड पर पाइप लाइन बिछाने का काम बाकी है, लेकिन यहां बीएंडआर ने खोदाई के लिए मंजूरी नहीं दी है। अधिकारियों ने जेडी-7 और रोहतक रोड ठीक करने को कहा है। अमरुत योजना के ठेकेदार को हाल ही में 30 सितंबर तक काम पूरा करने की डेडलाइन दी थी, जिसमें अब 18 दिन बाकी हैं। ऐसे में उम्मीद कम है कि सारा काम 30 सितंबर तक पूरा हो जाएगा।

तीन जगह सड़क धंसने की चल रही जांच, जिम्मेदार का पता नहीं

यह चौथी जगह है, जहां पर अमरुत योजना के तहत पाइप लाइन दबने के बाद या अन्य कार्य होने पर सड़क धंसी है। इससे पहले रोहतक रोड, अंडरपास के नजदीक जेडी-7 और बस अड्डे के पास जेडी-7 पर सड़क धंस चुकी है। हालांकि इन सभी मामलों की जांच जारी है। तीन बार जांच के ऑर्डर हो चुके हैं, लेकिन बार-बार जांच को खत्म कर नई जांच शुरू कर दी गई। अब एडीसी के नेतृत्व में पूरे मामले की जांच की जा रही है, जिसकी रिपोर्ट इसी सप्ताह आने की उम्मीद है।

रास्ते को ठीक करवा दिया है: जेई
मैनहोल हाल ही में बनाया गया था। बरसात के चलते मिट्टी धंस गई। उस गड्ढे को भरवा दिया गया है और रास्ते को ठीक करवा दिया गया है। मिट्टी जमने में समय लगता है, लेकिन बरसात के चलते ऐसा हुआ है। अब वहां पर दिक्कत नहीं है।-जय कुमार, जेई, नगर परिषद, जींद

खबरें और भी हैं...