पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कवि सम्मेलन:नन्हें बाल कवियों ने विभिन्न मुद्दों पर रखे अपने-अपने विचार

जींद11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जींद. राज्यस्तरीय बाल कवि उत्सव में भाग लेते बच्चे व अन्य। - Dainik Bhaskar
जींद. राज्यस्तरीय बाल कवि उत्सव में भाग लेते बच्चे व अन्य।
  • बनी द्राैपदी खड़ी है हिंदी, इंग्लिश खींचे चीर, अंधा राजा सभा है बहरी, किसे सुनाए पीर...

हिंदी पखवाड़े के अंतर्गत पहला कदम फाउंडेशन की ओर से आयोजित दूसरे राज्य स्तरीय ऑनलाइन बाल कवि सम्मेलन में 10 जिलों के 62 बाल कवियों ने अपनी रचनाओं की प्रस्तुति से मन मोह लिया। कार्यक्रम संयोजक प्रवक्ता अशोक वशिष्ठ ने बताया कि छात्रों ने हिंदी भाषा, देश भक्ति, प्रकृति सौंदर्य, महिला सशक्तीकरण जैसे विषयों पर आधारित स्वरचित व प्रसिद्ध कवियों की रचनाओं का पाठ किया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि साहित्यकार डॉ. रामनिवास मानव रहे। उन्होंने कविता लेखन के लिए आसान व अपने आसपास के विषयों से शुरुआत करते हुए मौलिक कविता लेखन के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता एससीईआरटी की विषय विशेषज्ञ तनु भारद्वाज ने की। उन्होंने छात्रों के इस प्रयास को दूध के दांतों से पर्वत ताेड़ने वाला बताया। उन्होंने हिंदी को राष्ट्रभाषा व विश्व भाषा बनाने में शिक्षकों और छात्रों के योगदान को अमूल्य बताया। कार्यक्रम का संचालन सरस्वती वंदना के साथ डॉ. पंकज गौड़ ने किया।

चरखी दादरी की छात्रा साक्षी ने हिंदी की तुलना द्राैपदी की पीड़ा से इन पंक्तियों में की- बनी द्रौपदी खड़ी है हिंदी, इंग्लिश खींचे चीर अंधा राजा सभा है बहरी किसे सुनाए पीर। पिंकी ने हाव भाव के साथ भगत सिंह की कविता व शोभा ने महिला सशक्तीकरण पर अपनी रचना प्रस्तुत की। सीसवाल हिसार की छात्रा विद्या शर्मा ने जिंदगी के फलसफे को अपनी कविता जिंदगी बवाल है, कहो कोई सवाल है के माध्यम से सुलझाने का प्रयास किया।

हांसी की छात्रा अनीता ने चुप रह जाती है सब सह जाती है कविता के माध्यम से बेटियों की समझदारी, सहनशक्ति व अन्य गुणों से परिचित करवाया। नारनौल की छात्रा प्रियंका ने देशभक्त कहलाएंगे जब हिंदी को अपनाएंगे कविता द्वारा हिंदी को दैनिक जीवन में प्रयोग करने का आह्वान किया। कुमकुम ने हिंदी दिवस पर हमने जाना कविता प्रस्तुत की। जाना कमालपुर जिला कैथल की छात्रा सलोनी ने अपनी सुरीली मीठी आवाज में कबीर के दोहों का पाठ किया।

यथार्थ के धरातल पर तू कल्पना की उड़ान भर आ
कन्या विद्यालय आदमपुर की छात्रा स्मृति ने अपनी गिरते मनोबल को उत्साहित करने वाली अपनी स्वरचित कविता यथार्थ के धरातल पर तू कल्पना की उड़ान भर आ का पाठ किया। जींद से इशानी ने कोरोना पर सुंदर कविता, सांवि सक्सेना ने पानी अमूल्य है। आयुषी ने पर्यावरण पर कविता से सभी को आकर्षित किया। खुशबू, नवनीत, साक्षी, अभिषेक व अन्य छात्रों ने भी कार्यक्रम में कविता पाठ किया।

प्रवक्ता सुरेश राणा ने धन्यवाद ज्ञापित किया। पहला कदम फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश वशिष्ठ ने हिंदी में हस्ताक्षर करने व हिंदी का अधिकाधिक प्रयोग करने का आह्वान किया। इस अवसर पर प्रवक्ता सुनील कुमारी, मुनेश कुमारी, मनु, विजय कुमार, राजेश भारद्वाज, सतीश भारद्वाज, रुपम अहलावत, सुनील पुलत्स्य, पंकज गौड़ शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...