महिला किसान सम्मेलन:किसान आंदोलन का एक वर्ष पूरा होने पर 26 नवंबर को महिला किसान सम्मेलन का आयोजन होगा

जींद23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अखिल भारतीय किसान सभा राज्य कमेटी की जींद में हुई बैठक में बनाई रणनीति

अखिल भारतीय किसान सभा की राज्य कमेटी की बैठक आज शहीद सूबे सिंह स्मारक में राज्य प्रधान फूल सिंह श्योकंद की अध्यक्षता में हुई। इसमें कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन को तेज करने की योजना बनाई गई। 26 नवंबर को किसान आंदोलन को एक साल पूरा होने पर महिला किसान सम्मेलन किया जाएगा।

किसान सभा राज्य कार्यकारी सचिव सुमित ने बताया कि आगामी आंदोलन की योजना बनाने के लिए किसान सभा हरियाणा की बैठक में सरकार के फसल खराबे पर मुआवजा न देने की कड़ी आलोचना करते हुए आंदोलन छेड़ने का निर्णय किया गया है। बैठक में राज्य उपप्रधान इंद्रजीत ने सयुंक्त मोर्चा के आंदोलन की रणनीति पर चर्चा रखी। 14 नवंबर को होगी महिला कन्वेंशन बैठक में किसान सभा राष्ट्रीय वित्त सचिव कृष्ण प्रसाद ने कहा कि 26 नवंबर को किसान आंदोलन को एक साल पूरा हो जाएगा। देशभर के किसान मजदूर कृषि कानूनों व लेबर कोड को रद्द करवाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। इस साल बाजरा, मूंग, धान की फसल खरीद न होने व शर्तों को थोपने के सरकार के निर्णय ने किसानों के इस संघर्ष को सही साबित कर दिया है, परंतु मोदी सरकार की हठधर्मिता पर आंदोलन को कुचलने के लिए अाेछे हथकंडे अपनाए जा रहे हैं।

किसान सभा ने बैठक में आगामी आंदोलन की योजना बनाते हुए फसल खराबे के नुकसान की भरपाई के लिए आंदोलन करने का निर्णय किया है। इसके साथ ही 14 नवंबर को महिला किसानों की कन्वेंशन की जाएगी व 26 नवंबर को एक साल पूरा होने पर बॉर्डर पर बड़ी लामबंदी की जाएगी। इसके अलावा ट्रक दुर्घटना में शहीद पंजाब की महिलाओं को श्रद्धांजलि के कार्यक्रम 7 नवंबर को टिकरी बॉर्डर पर होंगे। मीटिंग में बलबीर ठाकन, डिंपल, मास्टर शेर सिंह, रामस्वरूप, योगेंद्र, श्रद्धानंद सोलंकी, धर्मचंद, बलवान, शमशेर नंबरदार, सतबीर, रामफल, महेंद्र, महिपाल, कुलदीप, सुमित दलाल समेत सभी जिला कमेटियों के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...