पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Jind
  • Migratory Birds Inhabited In Bhambheva And Gangoli, Birds Of 12 Foreign Species Came, Wildlife Department Also Increased Surveillance

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बर्ड फ्लू का खतरा:भंभेवा व गांगोली में प्रवासी पक्षियों ने बनाया बसेरा, 12 विदेशी प्रजातियों के पक्षी आए, वन्य जीव विभाग ने भी बढ़ाई निगरानी

जींद7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
खूबसूरत नजारा: भंभेवा गांव के खेतों में पहुंचे प्रवासी पक्षी - Dainik Bhaskar
खूबसूरत नजारा: भंभेवा गांव के खेतों में पहुंचे प्रवासी पक्षी
  • अभी तक वन्य जीव संरक्षण विभाग को कहीं पर मृत नहीं मिला कोई प्रवासी पक्षी, विभाग की लोगों से अपील यदि कोई पक्षी मृत मिले तो दें सूचना

हर साल की तरह इस बार भी ठंड के मौसम में कई प्रजातियों के प्रवासी पक्षी जिले में पहुंचे हैं। वन्य जीव संरक्षण विभाग की टीम ने भंभेवा व गांगोली गांव के तालाब का दौरा किया तो यहां पर बारहेडिड गूज, स्पून बिल डक, पेंटिड स्ट्राेक, ग्रे लेग गूज, पेनटेल, कांब डक सहित 12 प्रजातियों के प्रवासी पक्षी नजर आए। प्रवासी पक्षियों के जिले में आने पर और बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए वन्य जीव संरक्षण विभाग ने भी सतर्कता बढ़ा दी है।

वन्य जीव संरक्षण विभाग के अधिकारी जिले में रोजाना जहां-जहां प्रवासी पक्षी आए हुए हैं वहां का दौरा कर प्रवासी पक्षियों की निगरानी कर रहे हैं। अभी तक कहीं पर वन्य जीव संरक्षण विभाग को कोई प्रवासी पक्षी मृत नहीं मिला है। विभाग ने बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए लोगों से भी अपील की है कि यदि कहीं पर कोई प्रवासी पक्षी मृत मिलता है तो उसकी सूचना दी जाए, ताकि समय रहते सैंपल लेकर पता लगाया जा सके प्रवासी पक्षी की मौत किस कारण से हुई है।

जिले में हर साल नवंबर में प्रवासी पक्षी पहुंचने शुरू हो जाते हैं। रसिया, मंगोलिया, चाइना, साइबेरिया सहित कई ठंडे देशों से हर साल भंभेवा, गांगोली गांव के तालाब, गतौली गांव के तालाब, अलेवा गांव के तालाब पर प्रवासी पक्षी पहुंचते हैं। ठंड कम होती है, जाने शुरू हो जाते हैं। न्य जीव संरक्षण विभाग भिवानी से आए इंस्पेक्टर श्रीभगवान व मनबीर खटकड़ की टीम ने पिछले दो दिनों में जब भंभेवा व गांगोली का दौरा किया तो प्रवासी पक्षियों के बड़े झुंड नजर आए। हजारों की संख्या में प्रवासी पक्षी पहुंचे हैं। पिछले साल की तुलना में इस बार यहां पहुंचे प्रवासी पक्षियों की संख्या ज्यादा थी। सभी प्रवासी पक्षी स्वस्थ्य मिले।

जिले में इन दिनों कई प्रजातियों के प्रवासी पक्षी पहुंचे हैं। भंभेवा व गांगोली गांव के तालाब पर 12 से ज्यादा प्रजाति के प्रवासी पक्षी पाए गए हैं। बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए प्रवासी पक्षियों की निगरानी की जा रही है। अभी तक कहीं पर किसी प्रवासी पक्षी की कोई मौत नहीं हुई है। मनबीर खटकड़, इंस्पेक्टर, वन्य जीव संरक्षण विभाग जींद।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser