पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक:सांसद बोले- अधिकारी गंभीर नहीं, केंद्रीय मंत्रालय और दिशा सचिव को कार्रवाई के लिए लिखे पत्र

जींद6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में मंच पर मौजूद सांसद, विधायक।

चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय के सभागार में शुक्रवार को हुई जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में एनएचएआई का कोई प्रोजेक्ट डायरेक्टर नहीं पहुंचा। मीटिंग खत्म होने से कुछ समय पहले अधिकारियों की बजाय कंसल्टेंट इंजीनियर व अन्य अधीनस्थ कर्मचारी पहुंचे, जो सांसदों को एनएचएआई के तहत चल रहे कार्यों का जवाब नहीं दे सके। इस पर सोनीपत से सांसद रमेशचंद्र कौशिक व हिसार से सांसद बृजेंद्र सिंह उखड़ गए और बोले कि अधिकारी इतनी महत्वपूर्ण बैठकों को लेकर गंभीर नहीं है। खुद नहीं आते हैं। ऐसे अधिकारियों से स्पष्टीकरण लिया जाए।

उन्होंने न आने वाले अधिकारियों को नोटिस कर स्पष्टीकरण मांगने के निर्देश दिए। सांसद बृजेंद्र सिंह ने कहा कि इन बैठकों को गंभीरता से नहीं लेने वालों के खिलाफ केंद्रीय मंत्री और दिशा के केंद्रीय सचिव को ऐसे कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए पत्र लिखा जाए ताकि उन्हें पता लग सके कि अधिकारी केंद्र की योजनाओं को लेकर कितने गंभीर नहीं है। इस पर डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने कहा कि सभी को नोटिस जारी कर दिया जाएगा और एनएचएआई के पीडी की कल वह स्वयं बैठक लेंगे कार्यों की प्रोग्रेस रिपोर्ट भेजेंगे। बैठक में दोनों सांसदों ने अधिकारियों द्वारा

उनके लोकसभा में होने वाले विकास कार्यों के पूरा होने पर रिपोर्ट न करने पर भी नाराजगी जताई। हिसार से सांसद बृजेंद्र सिंह ने कहा कि पिछले दिनों उनके लोकसभा क्षेत्र में काम पूरे हुए, लेकिन अधिकारियों ने सूचना देना तो दूर पत्थर पर नाम तक नहीं लिखवाया, यह बहुत गलत है। इसकी शिकायत उन्होंने चीफ सेक्रेटरी से की है। भविष्य में यदि ऐसा पाया जाता है तो वह इसकी शिकायत विशेषाधिकारी समिति के सक्षम करेंगे, जिसके बाद चीफ सेक्रेटरी को बैठक में आना पड़ेगा और गाज आप अधिकारियों पर गिरेगी। इसलिए इस बारे में सचेत रहे और समय पर सूचनाएं दे। बैठक में डीसी डॉ. आदित्य दहिया, एडीसी सत्येंद्र दूहन, सफीदों के एसडीएम मंदीप कुमार, जिला परिषद के सीईओ दलबीर सिंह, जिला नगर आयुक्त डॉ. सुशील मलिक, जीएम रोडवेज बिजेंद्र हुड्डा, भाजपा के जिला अध्यक्ष राजू मोर, जवाहर सैनी मौजूद रहे।

विधायक बोले- मीटिंग के मिनट्स ठीक नहीं, अधूरे कार्यों की दिखाई फोटो

बैठक की शुरुआत में विधायक डॉ. कृष्ण मिड्ढा ने पिछली मीटिंग के मिनट्स अधूरे होने की बात उठाई। उन्होंने सवाल किया कि जब पिछली बैठक में मैंने कई मुद्दे उठाए थे तो उन्होंने मिनट्स में नहीं जोड़ा गया। यह अधिकारी जान-बुझकर कर रहे हैं। इस तरफ ध्यान दे। बैठक में विधायक ने बाल भवन रोड, मिनी बाईपास, स्ट्रीट लाइट बंद रहने का मुद्दा उठाया और एक-एक करके सभी की फोटो दिखाकर अधिकारियों से जवाब मांगे। उन्होंने शहर में लगी स्ट्रीट लाइट के रेट पर भी सवाल उठाए और पानीपत और जींद में लगी लाइटों के रेट मिलान की मांग की, जिसे सांसद ने मान लिया।

पीएमकेवाई: गोलमोल जवाब न दें, 31 तक मकान बनवाकर दें : सांसद

बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत लोगों के मकान न बनने का मुद्दा भी छाया रहा। सोनीपत से सांसद ने पूछा कि जुलाना में अब तक लोगों के घर क्यों नहीं बने। इस पर अधिकारियों ने पहले बजट और फिर लोगों द्वारा खुद ही समय पर न बनाने की बात कही। सांसद बृजेंद्र सिंह ने कहा कि गोलमोल जवाब न दें और बताएं कि कब तक काम पूरा होगा। सांसदों ने सभी लोगों को 31 मार्च तक मकान पूरे करके देने के निर्देश दिए। जुलाना में सफाई व्यवस्था पर भी सवाल उठे। डीसी ने एसडीएम को मौके पर जाकर जांच करने के निर्देश दिए।

एनएचएम भर्ती मामले की दोबारा होगी जांच

बैठक में सिविल अस्पताल में एनएचएम भर्ती के मामले में विधायक ने दोबारा जांच की मांग की। डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने बताया कि इस मामले में एडीसी और डायरेक्टर हेल्थ जांच कर चुके हैं। इसमें एक मामले में दोष सामने आया था, जिस पर तत्कालीन सीएमओ को सस्पेंड कर भर्ती रद्द कर दी गई थी। विधायक ने कहा कि इस मामले में कई शिकायत आई थी। इस मामले की दोबारा जांच होनी चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ महत्वपूर्ण नए संपर्क स्थापित होंगे जो कि बहुत ही लाभदायक रहेंगे। अपने भविष्य संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने का उचित समय है। कोई शुभ कार्य भी संपन्न होगा। इस समय आपको अपनी काबिलियत प्रदर्...

और पढ़ें