पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विकास कार्यों में 5 करोड़ की गड़बड़ी का मामला:जिनके कार्यकाल में काम हुआ उनके मांगे गए थे नाम, नप ने पांच साल में तैनात सभी कर्मचारियों की भेजी सूची

जींद16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विकास कार्यों, चेकों पर हस्ताक्षर में लापरवाही के दौरान कार्यरत कर्मियों के मांगे गए थे नाम
  • पहले जांच, अब कार्रवाई अटकी

विधायक डॉ. कृष्ण मिड्ढा द्वारा नगर परिषद जींद के विकास कार्यों में 5 करोड़ की गड़बड़ी के आरोपों की जांच अब अंतिम चरण में है। स्थानीय शहरी निकाय निदेशालय ने जिन अधिकारियों के नाम जिला नगर आयुक्त कार्यालय से मांगे थे, वह नगर परिषद की तरफ से डीएमसी कार्यालय को भेज दिए गए हैं। जिला नगर आयुक्त कार्यालय ने तत्कालीन कार्यों के दौरान नियुक्त अधिकारी व कर्मचारियों के नाम मांगे थे, लेकिन नगर परिषद की तरफ से 2015 से लेकर 2020 तक विभिन्न पदों पर कार्यरत अधिकारियों व कर्मचारियों के नाम जिला नगर आयुक्त कार्यालय के पास भेज दिए हैं।

इनमें ऐसे कई अधिकारी व कर्मचारी के नाम शामिल हैं, जिनके दौरान न तो योजना शुरू हुई या फिर उनका कोई रोल उसमें नहीं रहा है। ऐसे में अब जिला नगर आयुक्त कार्यालय की तरफ से उन नामों की छंटनी की जाएगी। विधायक द्वारा लगाए गए आरोपों में जिन विकास कार्यों का जिक्र है, उनके अनुसार से लिस्ट तैयार की जाएगी और उसके मुख्यालय भेजा जाएगा।

नामों की लिस्ट भेज दी गई
जिला नगर आयुक्त कार्यालय की तरफ से तत्कालीन अधिकारियों के नाम मांगे गए थे। इन नामों की लिस्ट तैयार करके भेज दी गई है। आगामी कार्रवाई उच्चाधिकारियों की तरफ से की जानी है।-सुशील कुमार, ईओ, नप, जींद

अभी फाइल देखी नहीं है
इस मामले की फाइल अभी देखी नहीं है। जिन-जिन कामों की जांच हुई है, उसी दौरान कार्यरत अधिकारियों के नाम मांगे गए थे। ज्यादा नाम आए होंगे तो उन्हें ठीक करवाया जाएगा। -संजय बिश्नोई, डीएमसी, जींद

खबरें और भी हैं...