पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जींद:बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाए जाने का निरीक्षण किया

जींद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

19 साल तक की उम्र के बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाने के लिए 12 अक्टूबर से शुरू हुए एनडीडी कार्यक्रम की माॅनिटरिंग के लिए बुधवार को स्कूल हेल्थ के डिप्टी सिविल सर्जन डाॅ. रमेश पांचाल ने सफीदों क्षेत्र का दौरा किया। दौरे में उन्होंने कुछ गांवों के आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाए जाने का निरीक्षण किया तो कुछ सरकारी अस्पतालों का भी दौरा किया। इस दौरे में उनके साथ आरकेएसके की डीएएचओ डाॅ. पुष्पा जागलान भी थी।

डिप्टी सिविल सर्जन डाॅ. रमेश पांचाल ने कहा कि ट्रिपल-ए बहुत अच्छा काम कर रही हैं। आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर और एएनएम का काम काफी सराहनीय है। इस राष्ट्रीय कार्यक्रम में ट्रिपल-ए को बहुत बड़ी जिम्मेदारी दी गई है और ट्रिपल-ए अपनी जिम्मेदारी का सही तरीके से पालन कर रही हैं। उन्होंने जयपुर गांव में बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाने का खुद निरीक्षण किया। इसके बाद वह सीएचसी मुआना पहुंचे। सीएचसी में भी उन्होंने कार्यक्रम की समीक्षा की।

उनकी टीम सफीदों के सिविल अस्पताल के अलावा हाट गांव की पीएचसी भी गई। इसी दौरान उन्होंने सिंघपुरा गांव में आरबीएसके की टीम के काम को भी परखा। सीएचसी कालवा में टीम ने एसएमओ डाॅ. अरुण से एनडीडी कार्यक्रम के बारे में पूरी जानकारी ली। एसएमओ डाॅ. अरुण ने बताया कि सीएचसी कालवा के तहत आने वाले गांवों में यह कार्यक्रम सफलतापूर्वक चलाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...