आत्महत्या का मामला:जेल में युवक के फंदा लगाने के मामले में पुलिस ने की इत्तफाकिया कार्रवाई

जींद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पाॅक्सो एक्ट के तहत विचाराधीन बंदी था युवक

जिला जेल में बंदी द्वारा फंदा लगाकर आत्महत्या करने के मामले में पुलिस ने बुधवार को सिविल अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने इस मामले में इत्तफाकिया कार्रवाई की है। कैथल के गांव गुलियाना का 21 वर्षीय पवन जिला जेल में अपहरण और पाॅक्सो एक्ट के तहत विचाराधीन बंदी था।

जो पिछले ढाई माह से जिला जेल में बंद था। मंगलवार को आरोपी पवन बैरक नंबर 2 के बाथरूम में फंदे पर लटका हुआ मिला था और उसकी मौत हो चुकी थी। घटना की सूचना पाकर जेल अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे और घटना की सूचना पुलिस तथा मृतक बंदी के परिजनों को दी थी। बाद में सिविल लाइन थाना प्रभारी इंस्पेक्टर हरिओम और ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट जिला जेल पहुंचे थे और हालातों का जायजा लिया था।

अपहरण का भी था आरोप

मृतक पवन पर जुलाना थाना इलाके से 17 वर्षीय लड़की का अपहरण करने का आरोप था। जिसे जुलाना थाना पुलिस ने 8 जुलाई को गिरफ्तार कर लिया था और उसके खिलाफ पाॅक्सो एक्ट भी जोड़ था। तभी से मृतक पवन जेल में बंद था। सिविल लाइन थाना प्रभारी इंस्पेक्टर हरिओम ने बताया कि पुलिस ने सिविल अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। परिजनों ने किसी भी प्रकार के कोई आरोप नहीं लगाए है। पुलिस ने मामले में इत्तफाकिया कार्रवाई की है।

खबरें और भी हैं...