विरोध तेज:निजी स्कूल संचालकों में कोरोना को लेकर हुई बहस

जींद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डीसी से मिलने से पूर्व निजी स्कूल संचालक काॅन्फ्रेंस हॉल में बैठ गए। यहां कोरोना के होने या न होने को लेकर उनमें बहस हो गई। कुछ ने संक्रमण होने की बात कही तो कुछ ने कहा कि कोरोना कुछ नहीं है। इसपर कुछ स्कूल संचालकों ने साथियों को राजनीत न करने की हिदायत दी।

इसके बाद संचालकों डीसी से बात की। कहा कि यदि प्रशासन हल नहीं निकाल सकता तो वह अपने स्टाफ, बसों सहित लघु सचिवालय पहुंचकर चाबियां दे देंगे और फिर प्रशासन उनके वेतन व अन्य समस्याओं का समाधान करे। इस पर विधायक डॉ. कृष्ण मिड्ढा ने उनको राजनीति न करने की बात कही। उन्होंने कहा कि वह पहले ही स्पष्ट कर चुके थे कि मीटिंग के दौरान कोई राजनीतिक बात न की जाए।

आदेश मानने होंगे, सरकार तक

निजी स्कूलों में आठवीं तक के बच्चों को बुलाने की शिकायतें आई हैं। आज निजी स्कूल संचालकों का प्रतिनिधिमंडल मिला है। उनकी बात को सुना है और उनके द्वारा दिए गए सुझाव सरकार तक पहुंचा दिए जाएंगे। मंगलवार से स्कूल बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। यदि कोई आदेश नहीं मानेंगे तो फिर प्रशासन मंगलवार से कार्रवाई करेगा। डॉ. आदित्य दहिया, डीसी, जींद।

खबरें और भी हैं...