रोड़वेज कर्मचारियों में आक्रोश:लंबित मांगों को मनवाने के लिए 19 से रोडवेज कर्मचारी शुरू करेंगे आक्रोश पैदल यात्रा

जींद22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा रोडवेज संयुक्त कर्मचारी संघ की बैठक शनिवार को जींद डिपो मंदिर प्रांगण में राज्य प्रधान दलबीर किरमारा की अध्यक्षता में हुई। संचालन राज्य महासचिव आजाद सिंह गिल ने किया। बैठक में कर्मचारियों की लंबित व मांगों पर विस्तार से चर्चा की और सरकार व परिवहन अधिकारियों के उदासीन व लटकाऊ रवैये पर रोष जताते हुए सर्वसम्मति से फैसला लिया गया कि कर्मचारियों की लंबित पड़ी समस्याओं को लागू करवाने के लिए रोडवेज कर्मचारी आक्रोश पैदल यात्रा शुरू की जाएगी। आक्रोश पैदल यात्रा 19 नवंबर को हिसार डिपो से शुरू की जाएगी अाैर 30 नवंबर को चंडीगढ़ में कार्यकर्ता सम्मेलन करके परिवहन निदेशक, अतिरिक्त मुख्य सचिव, परिवहन मंत्री व मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा जाएगा।

दलबीर किरमारा ने कहा कि वर्ष 1992 से 2002 तक लगे कर्मचारियों को नियुक्त तिथि से नियमित करने, वर्ष 2016 में लगे चालकों को रेगुलर करना, परिचालकों का पे-ग्रेड बढ़ाने, पांच साल के बकाया पड़े बोनस का भुगतान, कर्मचारियों की काटी गई छुट्टियों को दोबारा लागू करना, तकनीकी स्केल से वंचित रहे सभी कर्मचारियों को इसका लाभ देना, चालक व परिचालकों की आठ घंटे की ड्यूटी निर्धारित करने अाैर आठ घंटे से ज्यादा ड्यूटी करने पर ओवर टाइम का भुगतान करना है।

जूते व वर्दी भत्ते में बढ़ोत्तरी करना व सालों से बकाया पड़े भत्ते का भुगतान करना, कर्मचारियों के बकाया पड़े एरियर, शिक्षा भत्ता, मेडिकल बिल, एसीपी व अन्य अदायगी का भुगतान तुरंत करना, निजीकरण पर रोक लगाने तथा विभाग में सरकारी बसों का बेड़ा बढ़ाने जैसी मांगें शामिल हैं। बैठक में राज्य उप वरिष्ठ प्रधान बलवान सिंह दोदूआ, कोषाध्यक्ष सुभाष बिश्नोई, उप महासचिव जगदीप लाठर, मुख्य संगठन सचिव कृष्ण सहवाग, चेयरमैन सुरेश लाठर, सुधीर अहलावत, चन्द्रभान सोलंकी, चमन लाल, विनोद कुमार, कुलदीप शर्मा, रामकुमार, सज्जन कंडेला, डिपो प्रधान अनिल गाैतम, जयवीर, सुरेंद्र खांडा मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...