जींद में व्यक्ति ने पत्नी-बेटे के साथ की आत्महत्या:SHO के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग को लेकर डेढ़ घंटे रोड जाम रखा

जींद5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के जींद के नरवाना क्षेत्र के गांव धनौरी में एक ही परिवार के तीन सदस्यों ने फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली। बुधवार सायं पोस्टमार्टम के बाद शवों को परिजनों को सौंप दिया गया। पुलिस ने सुससाइड नोट के आधार पर 8 व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया।

जींद में मृतकों के शव को रख रोड जाम किए ग्रामीण।
जींद में मृतकों के शव को रख रोड जाम किए ग्रामीण।

इनके खिलाफ केस दर्ज

मृतक के ताऊ के बेटे नरेश की शिकायत पर पुलिस ने ससुाइड नोट को आधार मानकर नन्हू की पत्नी, अंकित, राहुल, महेशा, मनीष, बेदू, अमन, विक्की को नामजद कर कुछ अन्य के खिलाफ लडाई झगडा करने, गाली गलौच करने, आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

डेढ़ घंटे बाद खोला जाम

गुस्साए परिजनों ने देर शाम दिल्ली पटियाला नेशनल हाईवे पर तीनों मृतकों के शव को रखकर जाम लगा दिया। एएसपी कुलदीप सिंह व नरवाना के एसडीम सुरेंद्र सिंह के आश्वासन पर लोगों ने लगभग डेढ़ घंटे बाद जाम को खोला। एएसपी व एसडीएम ने लोगों से कहा कि वह लिखित रूप में एसएचओ के खिलाफ शिकायत दें। जो भी उचित कार्रवाई होगी वह की जाएगी। किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी

मामले को लगभग सवा माह पहले हुई एक व्यक्ति की हत्या से जोड़ कर देखा जा रहा है। फिलहाल गढ़ी थाना पुलिस मामले की विभिन्न एंगलों से जांच कर रही है।

गांव धनौरी निवासी ओमप्रकाश (48), उसकी पत्नी कमलेश (45), उसका बेटा सोनू (20) के शव बुधवार को मकान में फांसी के फंदे पर लटके पाए गए। आशंका जताई जा रही है कि तीनों ने रात को फांसी लगाई है। घटना की सूचना मिलते ही गढ़ी थाना पुलिस फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंच गई और हालातों का जायजा लिया।

मृतक ओमप्रकाश के घर के बाहर बैठे ग्रामीण।
मृतक ओमप्रकाश के घर के बाहर बैठे ग्रामीण।

लगभग एक माह पहले मृतक ओमप्रकाश के भाई बलराज ने खेत में कीटनाशक पीकर आत्महत्या कर ली थी। बताया जाता है कि लगभग 35 दिन पहले गांव धनौरी निवासी नन्हा का शव गांव हंसडैहर ड्रेन के साथ बोरी में बंधा हुआ मिला था। जिसके गले में रस्सी भी थी। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या तथा शव को खुर्दबुर्द करने का मामला भी दर्ज किया था। नन्हा परिवार के लोग ओमप्रकाश तथा बलराज पर संदेह जता रहे थे। पुलिस ने मृतकों के शवों को कब्जे में ले मामले की जांच शुरू कर दी है।

मृतक कमलेश, ओमप्रकाश और बीच में बेटा सोनू।
मृतक कमलेश, ओमप्रकाश और बीच में बेटा सोनू।

गढ़ी थाना प्रभारी पवन कुमार ने बताया कि परिवार के तीनों सदस्य मकान में फांसी के फंदे पर लटकते पाए गए हैं। मौके पर फोरेंसिक टीम पहुंची और साक्ष्यों को जुटाया जा रहा है। मृतकों पर पूर्व में हुई एक व्यक्ति की हत्या का संदेह था। मामले की विभिन्न एंगल से जांच की जा रही है।

सोनू ने ये लिखा सुसाइड नोट में

मैं मेरे माता-पिता कातिल नहीं हैं और ना हमें पता नन्हू का मर्डर किसने किया है। सुसाइड नोट में सोनू ने लिखा कि मैं मेरे माता पिता नन्हू के घर वालों के डर से मर रहे हैं। घर वाले नन्हूं की बहु मेवा, काला, मुनी, मुनी का लडका, काला का लड़का, भीम के दोनों लडके। अंकित के मारपीट की वीडियो घर पर कैमरे में रिकॉर्ड है। मेरी मौत की जिम्मेदार पूरी गली वाले हैं क्योंकि उन्होंने सच की गवाही नही दी। पुरी गली नन्हू के पक्ष में है।

सुसाइड नोट की प्रति।
सुसाइड नोट की प्रति।

मुझे अपनी जिंदगी बहुत प्यारी थी, लेकिन गांव वालों का एक तरफा होने के कारण में जिंदगी खो रहा हूं। मैंने जो एसएचओ काे बयान दिया वो सब सच है। मैं और मेरे माता पिता नन्हूं के घर वालों के डर से मरे हैं। हमारा नन्हू की हत्या में कोई हाथ नही है। हम आत्महत्या कर रहे हैं। क्योंकि पूरा गांव हमें अपराधी मान रहा है।

धनौरी में पहुंचे एसपी और अन्य पुलिस अधिकारी।
धनौरी में पहुंचे एसपी और अन्य पुलिस अधिकारी।

भगवान करे-इस गली का नाश हो

आज काला का लड़का अंकित हमारे घर पर लड़ाई करने आया था उसने शराब पी रखी थी और बोल रहा था कि मैं सोनू को जान से मांरूगा और मकान पर ईंट मारने लगा। मैंने पुलिस को फोन किया पुलिस ने आकर हमें ही धमकाया कि तुम झूठ बोल रहे हो। इस वारदात को पूरी गली देख रही थी, किसी ने भी गवाही नहीं दी। अंकित हमारे घर मारपीट करने आया है। भगवान करें इस गाल (गली) का नाश हो। है राम नया हो (सोनू) जय बाबा गोरखनाथ की।

धनौरी गांव में ग्रामीणों से बातचीत करते एसपी जींद।
धनौरी गांव में ग्रामीणों से बातचीत करते एसपी जींद।

एसपी मौके पर पहुंचे, परिवार का हंगामा

धनौरी में परिवार द्वारा आत्महत्या किए जाने की सूचना के बाद जींद के एसपी नरेंद्र बिजराणिया मौके पर पहुंचे हैं। शव अभी गांव में ही हैं। मृतक के परिजन हंगामा कर रहे हैं कि यह हत्या का केस दर्ज किया जाए। उनको मार कर लटकाया गया है। एसपी ने पूरे मामले को लेकर ग्रामीणों और परिजनों से बात की। निष्पक्ष जांच और उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है। पुलिस की मौके पर जांच जारी है। बाद में शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा जाएगा।